कुंटे ने नहीं, राकांपा मंत्रियों ने लिखी रिपोर्ट: फड़नवीस

मुख्य सचिव सरल व्यक्ति, वे नहीं लिख सकते ऐसी रिपोर्ट ।  मंत्रियों ने लिखी रिपोर्ट, ले लिए कुंटे के दस्तखत

fadanvis

मुंबई

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फड़नवीस ने कहा कि फोन टैपिंग मामले में जो रिपोर्ट तैयार की गई है, वह राज्य के मुख्य सचिव सीताराम कुंटे ने नहीं, शायद राष्ट्रवादी कांग्रेस के दो मंत्रियों ने तैयार की है और उस पर कुंटे के दस्तखत ले लिए गए हैं। वहीं पूर्व मंत्री और भाजपा विधायक आशीष शेलार ने कहा कि यह रिपोर्ट प्रभादेवी स्थित मुखपत्र के कार्यालय में तैयार की गई है।

फड़नवीस ने कहा कि वे राज्य के मुख्य सचिव सीताराम कुंटे को अच्छी तरह से पहचानते हैं, वे सरल व्यक्ति हैं और ऐसी रिपोर्ट नहीं लिख सकते। उन्होंने आरोप लगाया कि यह रिपोर्ट शायद राकांपा के मंत्री जितेंद्र आव्हाड या नवाब मलिक ने तैयार की है और उस पर मुख्य सचिव के दस्तखत ले लिए गए हैं। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि रिपोर्ट के अनुसार राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए फोन टैपिंग की अनुमति दी जाती है और ऐसा दावा किया जा रहा है कि इसमें राष्ट्रीय सुरक्षा का कोई भी मुद्दा नहीं था, लेकिन ऐसा करते हुए कानून की कई बातों को छुपाया गया। टेलीग्राफ कानून के अनुसार जिन बातों के लिए टेलीफोन टैप किया जाता है, उसमें अनेक बातों का उल्लेख किया गया है। इसमें देश की सुरक्षा के अलावा यदि कोई अपराध होने की संभावना है तो उसका भी उल्लेख है, लेकिन यह बात रिपोर्ट से हटा दी गई है। इसलिए इस रिपोर्ट में मूल कानूनी प्रावधानों से छेड़छाड़ की गई है। भ्रष्टाचार निवारक विभाग (एसीबी) भी इसी धारा का उपयोग करते हुए फोन टैप करता है, क्योंकि इसमें भ्रष्टाचार का मुद्दा होता है। उन्होंने कहा कि मुझे पर इस गोपनीय रिपोर्ट को लीक करने का आरोप लगाया गया है और कहा गया कि इस वजह से कई अधिकारियों को मानसिक तनाव सहना पड़ा है, लेकिन मैंने सिर्फ कवरिंग लेटर दिया था। रश्मि शुक्ला की रिपोर्ट को मंत्री नवाब मलिक ने लीक किया। अनेक पत्रकारों ने यह रिपोर्ट मुझे भेजी। कई टेलीविजन चैनलों ने इसे दिखाया। फड़नवीस ने कहा कि उन्हें जब भी अवसर मिलेगा, तब वे इसकी कई बातों का अदालत में खुलासा करेंगे। इस संबंध में तत्कालीन पुलिस महानिदेशक ने सीआईडी जांच की सिफारिश की थी, इसे किसके दबाव में रोका गया, इसकी जांच होनी चाहिए। 

प्रभादेवी में तैयार हुई रिपोर्ट

इधर पूर्व मंत्री और भाजपा विधायक आशीष शेलार ने मुख्य सचिव सीताराम कुंटे की रिपोर्ट को नेरोलक का सफेद पेंट बताया। उन्होंने कहा कि प्रभादेवी के एक न्यूजपेपर कार्यालय में रिपोर्ट तैयार की गई है। जिस रश्मि शुक्ला ने एवीडेंस दिए, उन्हें पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं। सवाल नियम का नहीं, सरकार की नीयत का है।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget