मोटा होने के लिए पियें 'बनाना शेक'

banana shake

बेशक मोटापा आज की बड़ी समस्या है लेकिन वजन कम होना, कमजोरी और पतलापन भी कुछ लोगों के लिए किसी बड़ी समस्या से कम नहीं है। अगर आप मोटा होना चाहते हैं, तो आपको रोजाना बनाना शेक पीना चाहिए। केले में फाइबर और कैलोरी की अधिक मात्रा होती है। यह वजन बढ़ाने का एक हेल्दी तरीका साबित हो सकता है। आपने अक्सर देखा होगा कि जिम जाने वाले लोग वर्कआउट के बाद दूध और केला खाते हैं। इसका कारण यह है कि यह प्रोटीन की कमी पूरी करता है और इसमें अन्हेल्दी फैट नहीं होता है।

केले के पोषक तत्व

केला सबसे पौष्टिक फलों में से एक है जिसे आप अपने डाइट में शामिल कर सकते हैं। इसमें पोटेशियम और फाइबर की भरपूर मात्रा होती है जबकि फैट की मात्रा बेहद कम होती है। इसी वजह से वर्कआउट करने के बाद केला खाने की सलाह दी जाती है। साथ ही इससे आपको लंबे समय तक भूख भी नहीं लगती है। इसमें कार्ब की मात्रा ज्यादा होती है बल्कि कैलोरी और प्रोटीन कम होता है। इस फल में एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन बी-6, विामिन सी होता है। यह आपकी सेहत के लिए फायदेमंद है।

ऐसे बनाएं बनाना शेक

केले में कैलोरी की भरपूर मात्रा होती है और आपका वजन तभी बढ़ेगा जब आप सही मात्रा में खाएंगे। वजन बढ़ाने के लिए एक गिलास फुल क्रीम दूध में दो केले को मिक्सी में अच्छी तरह से ब्लेंड कर लें। उसमें शहद और नट्स मिलाएं।

आप फुल क्रीम दूध की जगह बादाम का दूध भी इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर आप मसल्स बनना चाहते हैं तो बादाम के दूध में केला मिलाकर पिएं। इस शेक में कैलोरी की भरपूर मात्रा होती है। यह आपके मसल्स को बढ़ाने का काम करता है।

इस बात का रखें ध्यान

सिर्फ बनाना शेक पीकर आप वजन नहीं बढ़ा सकते हैं। इसके लिए आपको अपनी डाइट का भी ख़ास ध्यान रखना चाहिए। आपको फास्ट फूड्स से बचकर हेल्दी और प्रोटीन वाली चीजों का सेवन करना चाहिए। इसके साथ आपको एक्सरसाइज पर भी ध्यान देना चाहिए।

प्रोटीन का सेवन बढ़ा दें

स्वस्थ वजन हासिल करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण पोषक तत्व प्रोटीन है। यदि आप वजन बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं, तो शरीर के वजन के प्रति पाउंड 0.-1 ग्राम प्रोटीन के लिए लक्ष्य (1.5-2.2 ग्राम प्रोटीन प्रति किलोग्राम) लेना चाहिए।

उच्च-प्रोटीन खाद्य पदार्थों में मीट, मछली, अंडे, कई डेयरी उत्पाद, फलियां, नट और अन्य शामिल हैं। यदि आप अपने आहार में पर्याप्त प्रोटीन नहीं मिल रहा है, तो आप व्हे प्रोटीन जैसे प्रोटीन सप्लीमेंट भी ले सकते हैं।

साबुत अनाज

साबुत अनाज में कार्बोहाइड्रेट भारी मात्रा में पाया जाता है। इसके लिए आपको गेहूं, ज्‍वार बाजरा, मकई, जौ, ओट, कट्टू, पास्‍ता आदि का खूबी सेवन करना चाहिए। साबुत अनाज में पिसे हुए अनाज की तुलना में ज्यादा कैलोरी और विटामिन होता है। साबुत अनाज को दूध के साथ भी लिया जा सकता है।

गुड़

ऐसा कहा जाता है कि गुड़ में भरपूर मात्रा में कैल्‍शियम और फास्‍फोरस पाया जाता है। यह दोनों तत्‍व हड्डियों को मजबूती देने में बेहद मददगार हैं। अगर आप बहुत अधि‍क थकान या कमजोरी महसूस करते रहे हैं, तब भी गुड़ आपकी मदद कर सकता है।

दही

इसमें कैल्शियम पाया जाता है, जो हड्डियों को मजबूत बनाता है और वजन बढ़ाता है। इसके अलावा दही को विटामिन डी का भंडार माना जाता है। दही आपके भोजन को पचाने में भी मदद करता है और इसमें प्रोटीन भी होता है।

बादाम

बादाम खाने से तंत्रिकाओं का विकास होता है। साथ ही यह वजन बढ़ाने के लिए एक अच्छे विकल्प के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। आप हर रोज बादाम खाएं तो शारीरिक कार्यों और तंत्रिकाओं में स्थिरता आएगी और वजन बढ़ेगा।

मूंगफली

मूंगफली में ज्या‍दा मात्रा में कैलोरी और वसा पाया जाता है। आप मूंगफली को हर प्रकार से प्रयोग कर सकते हैं। लंच और डिनर के बाद भी मूंगफली खाया जा सकता है। इसके प्रयोग से पेट तो नही भरता लेकिन शरीर को ज्यादा मात्रा में कैलोरी और फैट मिलता है।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget