वझे मामले के बाद मुंबई अपराध शाखा में बड़ा फेरबदल

पूर्व पुलिस कमिश्नर के करीबी और अपराध शाखा में मलाई खाने वाले हटाए गए

Police

मुंबई

मुंबई पुलिस में मंगलवार को बड़ा फ़ेरबदल हुआ है, बताया जा रहा है कि कई सालों से अपराध शाखा की मलाई खा रहे लोगों का तबादला किया गया है। इसके अलावा कुछ लोग ऐसे भी हैं, जिन्होने पूर्व मुंबई पुलिस कमिश्नर के साथ काम किये हैं और करीबी भी माने जाते हैं। यही वजह है कि नए मुंबई पुलिस कमिश्नर के आने के बाद यहां जड़ जमाकर बैठे लोगों की एक लिस्ट तैयार की गई, इसके बाद एक साथ 86 लोगों के तबादले किये गए, जिसमें 65 सिर्फ अपराध शाखा के अधिकारी हैं। इन अधिकारियों में सचिन वझे के साथ कार्यरत एपीआई रियाजुद्दीन काझी और प्रकाश होवाल भी शामिल हैं।

दरअसल अपराध शाखा में रहते हुए कई अधिकारियों को पांच साल हो गए थे। यहीं पर रहकर अधिकारी कई ऐसे काम कर देते थे जो वरिष्ठ अधिकारियों को पता तक नहीं रहता था। ऐसे में वझे का मामला सामने आने के बाद मुंबई पुलिस के मुखिया ने पूरे अपराध शाखा में फेरबदल करने की ठान ली। जिसके लिए अधिकारियों में मैराथन मीटिंग भी हुई है और फिर इनके तबादले का निर्णय लिया गया है। जिन अधिकारियों का तबादला हुआ है उनमें से कुछ अधिकारी ऐसे भी हैं जो सालों से जड़ जमाये बैठे हुए हैं। मुंबई पुलिस कमिश्नर हेमंत नागराले ने अपना पद संभालने के बाद ही बड़े फेरबदल करने की करने के लिए कहा था। उन्होंने कहा था कि मुंबई पुलिस कठिनाइयों का सामना कर रही है। अब जिन अधिकारियों का तबादला किया गया है उनकी जगह पर यहां कौन आएगा इसकी भी आतुरता पुलिस कर्मियों को है। 

पांच साल से टिके थे अधिकारी

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक वझे का मामला सामने आने के बाद यह क्राइटेरिया तय किया गया कि जिन लोगों ने पांच साल या उससे अधिक अपराध शाखा में समय बिताया है, उन्हें वहां से हटाकर पुलिस थाने या स्पेशल ब्रांच में ट्रांसफर किया जाए। जो अधिकारी अभी नए- नए अपराध शाखा में आये हुए हैं, उनका तबादला इसमें नहीं किया गया है। 

पूर्व पुलिस कमिश्नर के खास का भी तबादला

दरअसल अपराध शाखा में कुछ ऐसे लोग कार्यरत थे, जिन्होने मुंबई पुलिस के पूर्व कमिश्नर के साथ कहीं न कहीं काम किया है। उसमें ठाणे पुलिस कमिश्नरेट हो या फिर एटीएस कार्यरत डीआईजी के समय में काम करना हो। यहां पर जिन लोगों ने उनके करीब रहते हुए काम किये हैं, उन्हें भी अपराध शाखा से हटाया गया है। 

अधिकारियों में उत्सुकता

65 अधिकारियों को अपराध शाखा से हटाए जाने के बाद अब बाहर से केवल 20 अधिकारी आये हैं, जिन्हें अपराध शाखा में पोस्टिंग दी गई है। इसके अलावा जो बची हुई पोस्ट है, यहां पर किन अधिकारियों को भेजा जाता है इसकी उत्सुकता पुलिसकर्मियों में बढ़ गई है। कई सालों से जड़ जमाकर बैठे लोग अब हटा दिए गए हैं, उनका नंबर कब आएगा, इसकी उत्सुकता अधिकारियों में ज्यादा है।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget