बंगाल में चोट पर वोट का 'खेला'

mamta banerjee

कोलकाता 

नंदीग्राम में बुधवार को नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के चोटिल होने एवं उनके द्वारा हमले का आरोप लगाए जाने के बाद बंगाल में राजनीतिक पारा गरम है। ममता जहां बुधवार रात से ही अस्पताल में भर्ती हैं वहीं, उनपर कथित हमले को लेकर सत्तारुढ़ तृणमूल कांग्रेस व विपक्षी भाजपा आमने-सामने आ गई हैं। दोनों ही पार्टियां गुरुवार को एक-दूसरे की शिकायत लेकर चुनाव आयोग की चौखट पर पहुंच गईं। तृणमूल के 

नेताओं ने चुनाव आयोग के अधिकारियों से मिलकर शिकायत कीं। उन्होंने कहा कि घटना के जरिए ममता की हत्या की गहरी साजिश रची गई थी।

तृणमूल का इशारा भाजपा की ओर था। तृणमूल ने मामले की जांच की मांग करते हुए इसके पीछे जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। इसके बाद प्रदेश भाजपा का प्रतिनिधिमंडल भी चुनाव आयोग पहुंचा और घटना की संपूर्ण जांच की मांग की।

चुनाव आयोग ने घटना को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

चुनाव आयोग ने नंदीग्राम घटना पर टीएमसी के पत्र का जवाब दिया है। पत्र में आयोग ने कहा है कि पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी घायल हो गईं, यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। यह पूरी तरह से अनपेक्षित और अस्वीकार्य है। चुनाव आयोग ने कहा कि हमारे ऊपर आरोप लगाना सही नहीं है। यह संस्था किसी भी तरह से इस तरह की घटना का समर्थन नहीं करती है। चुनाव आयोग ने कहा कि यह भी कहना गलत है कि हमने चुनाव के नाम पर राज्य की कानून व्यवस्था को अपने नियंत्रण में कर लिया है। मुख्यमंत्री की सुरक्षा और प्रदेश की कानून व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी राज्य की है।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget