14 अप्रैल के बाद लॉकडाउन!

टॉस्क फोर्स का लॉकडाउन पर जोर   आज वित्त विभाग सहित अन्य से चर्चा करेंगे सीएम

uddhav thackeray

मुंबई

महाराष्ट्र में लॉकडाउन लगाने को लेकर रविवार को गहन मंथन किया गया। शाम को टॉस्क फोर्स की बैठक हुई। बैठक के बाद राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि 14 अप्रैल या इसके बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे लॉकडाउन को लेकर उचित निर्णय लेंगे। सोमवार को वित्त सहित अन्य विभागों की बैठक होगी। इसके बाद बुधवार को होने वाली कैबिनेट बैठक में इस विषय पर गंभीर चर्चा होगी। टोपे ने कहा कि टास्क फोर्स ने कहा कि राज्य में लॉकडाउन की स्थिति बन गई है।

सोमवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे उपमुख्यमंत्री और वित्त मंत्री अजित पवार सहित अन्य विभागों के मंत्रियों से चर्चा करेंगे। इसमें इस बात पर चर्चा की जाएगी कि लॉकडाउन लगाते वक्त गरीब वर्ग को किस तरह से मदद पहुंचाई जा सकती है। बुधवार को कैबिनेट बैठक होने की संभावना है।

रविवार को टॉस्क फोर्स की बैठक में राज्य में 14 दिनों का लॉकडाउन लगाने की सिफारिश की गई।  बैठक में बेड की संख्या, ऑक्सीजन की उपलब्धता और वेंटिलेटर की उपलब्धता पर चिंता प्रकट की गई। बैठक में इस बात पर चर्चा हुई कि कितने दिनों का लॉकडाउन लगाया जाए? जहां रोगियों की संख्या अधिक है, वहां सख्त लॉकडाउन लगाया गया तो वहां आम जनता पर क्या असर होगा? टास्क फोर्स में मुंबई सहित राज्य के नामचीन डॉक्टरों को शामिल किया गया है। बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि टॉस्क फोर्स से व्यापक एक व्यापक कार्य प्रक्रिया (एसओपी) बनाने को कहा। उन्होंने कहा कि वे टीके की आपूर्ति बढ़ाने को लेकर फिर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बातचीत करेंगे। टास्क फोर्स की बैठक के बाद रात को आईएएस अधिकारियों से बैइक हुई। जिसमें मुख्यमंत्री प्रत्येक विभाग की तैयारियों, आगे के गणित और आर्थिक चक्र पर होने वाले असर पर जानकारी ली।

95 फीसदी रोगियों का हो सकता है घर पर इलाज

टास्क फोर्स ने कहा कि 95 फीसदी रोगियों को घर पर उचित उपचार द्वारा ठीक किया जा सकता है। केवल गंभीर रूप से बीमार रोगियों को तत्काल अस्पताल में भर्ती करने की आवश्यकता है। सोसाइटियों में अलग कक्ष तैयार कर वहां ऑक्सीजन की आपूर्ति की व्यवस्था की जाए। बैठक में मुख्य सचिव सीताराम कुंटे ने कहा कि 1,200 मीट्रिक टन में से 980 मीट्रिक टन ऑक्सीजन वर्तमान में चिकित्सा प्रयोजनों के लिए उपयोग किया जा रहा है। केंद्र सरकार के सहयोग से अन्य राज्यों से ऑक्सीजन की आपूर्ति पर विचार किया जा रहा है। बैठक में डॉ प्रदीप व्यास ने कहा कि 4 से 10 अप्रैल के बीच एक सप्ताह में 4 लाख नए रोगी मिले हैं।

हर जिले में ऑक्सीजन प्लांट

स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि टास्क फोर्स की बैठक में आने वाली चुनौतियों का सामना करने के लिए हर जिले में एक लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट तैयार करने का फैसला लिया गया है। साथ ही अगले कुछ दिनों तक रेमडेसीवीर इंजेक्शन के एहतियात के साथ इस्तेमाल करने का कहा गया है।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget