30 से अधिक अस्पतालों ने की डोझी के साथ साझेदारी

कोविड-19 की दूसरी लहर में बेड की कमी के प्रबंधन के लिए


नई दिल्‍ली

कोविड-19 में वृद्धि के तहत अधीन महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल के सबसे प्रभावित राज्यों के अस्पताल अब कोविड-१९ मरीजों को सेवा प्रदान करने के लिए रिमोट मरीजों के निरीक्षण समाधानों की ओर मूड चुके हैं। कॉन्टैक्टलेस मरीजों के निरीक्षण समाधानों ( आरपीएम )  में प्रथम अन्वेषक डोझी अब भारत में भी डेढ़ सौ से अधिक अस्पतालों को दो मिनट से भी कम समय में  बेड को आईसीयू  ( ICU ) में बदलने के लिए मदद कर रहा है और आईसीयू ( ICU ) के बाहर वाले मरीजों के रिमोट निरीक्षण को सक्षम बना रहा है। पिछले 2 सप्ताहों में 30 से अधिक अस्पतालों ने भारत भर में डोझी के साथ साइन अप किया है और वर्तमान में 4000 से अधिक कोविड उच्च निर्भरता यूनिट  (एचडीयु ) बेड का लगातार संस्थागत सेटिंग्स में निरीक्षण किया जा रहा है। डोझी ने अस्पतालों के भीतर एक मरीज निरीक्षण सेल को स्थापित किया है, ताकि 24x7 ऑन-ग्राउंड समर्थन और सतर्कता बढ़ाई जा सके। आईजीएमसी- नागपुर और ईएसआईसी -बेंगलुरु में यह केंद्र मौजूद हैं और यह अन्य कई अस्पतालों के साथ काम कर रहे हैं, जो इस सप्ताह संचालन शुरू कर रहे हैं। डोझी द्वारा सक्षम मरीज निरीक्षण सेल सभी मरीजों पर ध्यान रखने में मददगार है और किसी भी वृद्धि में डॉक्टरों और नर्सेस को सतर्क करते हैं। बढ़ते मामलों और अस्पताल में बढ़ रहे दाखिलों के साथ स्टाफ और बेड की कमी के चलते अस्पताल परेशान हैं।  इन केंद्रों पर डोझी ने एक समर्पित संसाधन तैनात किया है, जो डॉक्टरों को प्राथमिकता देने और गंभीर मरीजों की निगरानी करने में मदद करेगा। यह आवश्यक डेटा के साथ सही समय पर प्रत्येक मरीज के आंतरिक अंगों पर डॉक्टरों की मदद करेगा और और उन्हें आवश्यक कार्य करने में सक्षम बनाएगा। भारत एक स्वास्थ्य संकट का सामना कर रहा है,  अपनी दूसरी लहर  के साथ हर दिन वायरस का संक्रमण ऊंचाई छू रहा है और देश भर के अस्पतालों को  इंटेंसिव सेवा बेड की आपूर्ति के चलते चिंता में डाल रहा है। डोझी प्रो अस्पतालों के लिए एक कॉन्टैक्टलेस मॉनिटर है और एआई पावर्ड ट्राइएजिंग सिस्टम की सुविधा प्रदान करता है, जो मरीज के हृदय की गति (प्रति घंटे 100 से अधिक बार) ,श्वसन दर और स्लीप एपनिया जैसे अन्य नैदानिक मापदंड, मरीज के संपर्क में आए बिना मायोकार्डियल परफॉर्मेंस मैट्रिक्स को यह लगातार और सटीक निगरानी में सक्षम बनाता है।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget