बिना लक्षण वाले मरीजों ने बढ़ाई मुंबई की मुश्किलें

49 दिनों में  मिले 91 हजार मरीज, 74 हजार में लक्षण नहीं

iqbalsingh chahal

मुंबई 

कोरोना की दूसरी लहर का सामना कर रही मुंबई में बिना लक्षण वाले मरीजों का प्रमाण अधिक है। जिन से मुंबई की चिंता बढ़ गई है। मनपा आयुक्त इकबाल सिंह चहल  ने कहा कि मुंबई में पिछले 49 दिनों में 91 हजार कोरोना के नए मरीज मिले हैं,जिनमे 74 हजार मरीजों में  कोरोना के कोई लक्षण नहीं हैं।  17 हजार मरीजों में कोरोना के  लक्षण दिखाई दिए। जबकि इनमें से मात्र  8 हजार मरीजों को ही अस्पताल में भर्ती करना पड़ा । चहल ने कहा कि विशेषज्ञों ने बताया है कि दूसरी लहर आए 50 दिन हो गए हैं। आनेवाले 30 से 35 दिन तक इसका और असर रहेगा। इसलिए इन दिनों में हमें और अधिक सतर्क रहने की जरूरत है। मनपा  इससे निपटने के लिए तैयारी में जुटी है। देश में मुंबई एकलौता शहर है, जहां नौ जंबो हॉस्पिटल हैं। यहां आईसीयू, डायलिसिस बेड और 70 प्रतिशत ऑक्सीजन बेड है। मुंबई में प्रतिदिन 10 से 12 हजार कोरोना मरीज मिले तब भी हम स्थिति से निपटने में सक्षम हैं।  

मनपा आयुक्त ने  कहा कि साइलेंट कोरोना मरीज लोगों को संक्रमित कर रहे हैं। लेकिन राहत की बात यह है कि ऐसे मरीजों को किसी दवा की जरूरत नहीं है ,और अस्पताल में भर्ती होने  की  भी आवश्यकता नहीं है। ऐसे लोगों को सिर्फ आइसोलेशन में या होम क्वारंटीन में रखने की जरूरत है। जिन 17 हजार मरीजों  में सौम्य लक्षण हैं। उसमें से  आठ हजार मरीजों को ही अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। आयुक्त ने कहा  कि 91 हजार मरीज  में से सिर्फ 269 लोगों की मौत कोरोना की वजह से हुई है। इस दौरान मुंबई में कोरोना की डेथ रेट 0.2 प्रतिशत रही। पॉजिटिव रेट भी नियंत्रण में है। 40 हजार से अधिक लोगों का लगभग रोज टेस्ट किया जा रहा है, उसमें से औसतन साढ़े पांच हजार लोग पॉजिटिव मिल रहे हैं। मुंबई में अभी कोरोना की पॉजिटिव रेट 14 प्रतिशत है। अभी हमारे पास मरीजों को एडमिट करने के लिए 13 हजार खाट उपलब्ध  हैं, जल्द ही चार हजार बेड और उपलब्ध हो जाएंगे।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget