भारत के लिए खेलते हुए मानसिक स्वास्थ्य की अहमियत महसूस की: हार्दिक

hardik pandya

चेन्नई 

हार्दिक पांड्या ने बुधवार को कहा कि उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलते हुए मानसिक स्वास्थ्य की अहमियत महसूस हुई और खुद को मानसिक रूप से मजबूत बनाए रखने के लिए उन्होंने अपने परिवार को श्रेय दिया। 

हार्दिक ने कहा, ‘जब मैंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला तो मुझे महसूस हुआ कि आपकी जिंदगी में किस तरह का दबाव शामिल हो जाता है। निश्चित रूप से जिंदगी हमारे लिए बदलती है लेकिन व्यक्तिगत रूप से भी आपको सभी चीजों से उबरने की जरूरत होती है।’ उन्होंने कहा, ‘इसलिए मुझे महसूस हुआ कि मानसिक स्वास्थ्य भी अहम है, जिसमें मेरे परिवार ने काफी बड़ी भूमिका अदा की जिन्होंने सुनिश्चित किया कि मैं सही जगह बना रहूं।’ 

मानसिक रूप से स्वस्थ होने पर ध्यान पिछले साल से ज्यादा दिया जा रहा है क्योंकि कोविड-19 महामारी ने खिलाड़ियों को जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में रहने को मजबूर कर दिया, जिसमें उनकी जिंदगी केवल होटल और स्टेडियम तक ही सीमित हो जाती है।

 गत चैम्पियन मुंबई इंडियंस शुक्रवार को इंडियन प्रीमियर लीग के शुरूआती मुकाबले में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर से भिड़ेगी। 

भारत के लिए 60 वनडे और 48 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके हार्दिक ने विश्व स्वास्थ्य दिवस के मौके पर शारीरिक फिटनेस की अहमियत पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा, ‘दिन में सुनिश्चित कीजिये कि आप किसी तरह की ‘एक्टिविटी’ में हिस्सा लें जिससे आपकी फिटनेस ही अच्छी होगी, यह काफी महत्वपूर्ण है। अगर आप छोटी छोटी चीजों का ध्यान रखोगे तो यह आपके शरीर के ध्यान के लिए अच्छा होगा।’ 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget