बिहार में कोरोना महामारी का कहर

 दरभंगा

बिहार में कोरोना कहर बरपा रहा है। इस महामारी से लोगों का बुरा हाल है। लोग इलाज के लिए दर-दर भटक रहे हैं, परंतु समुचित इलाज मरीजों को नहीं मिल पा रहा है। इस महामारी से यहां के हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। कोरोना से प्रदेश में चारों तरफ कोहराम मचा हुआ है। बता दें कि पिछले 24 घंटे में इस बीमारी ने जहां 12 लोगों की जान ले ली। वहीं कुल 48 घंटे में से 18 से भी ज्यादा की मौत हो जाने से अंतिम संस्कार के लिए भी लोगों को श्मशान पर इंतजार करना पड़ रहा है। अब तक ये दृश्य बड़े शहरों में देखने को मिल रहे थे, लेकिन कोरोना के कोहराम से रूह कंपा देने वाली ये दृश्य अब दरभंगा में भी देखने को मिल रही है, जहां एक साथ छह शवों की अंत्येष्टि हुई। हाल ऐसे हैं कि एक तरफ चिता की लपटें उठ रही हैं, तो बगल में मुस्लिम रीति रिवाज से भी शवों को दफनाया जा रहा है।

शवों के साथ नहीं आ रहे अपने

जिला प्रशासन, नगर निगम के सहयोग से कबीर सेवा संस्थान के सदस्य बारी-बारी से विधि विधान के साथ शवों की अंत्येष्टि कर रहे हैं। पहली बार दरभंगा में एक साथ शहर के भिंगो मुहल्ले में स्थित मुक्ति धाम में छह चितायें जलती देख लोगों का कलेजा मुंह को आ गया। एक साथ इन छह शवों की अंत्येष्टि हृदय विदारक थी। गौरतलब है कि इस अंतिम यात्रा में एक आध शवों के साथ ही एक दो परिजन आए बाकी के शवों के साथ इनका अपना कोई नहीं आया था। यहीं संस्था के सदस्य जहां एक ओर हिंदू रीति रिवाज से दाह संस्कार कर रहे हैं, तो वहीं दूसरी तरफ मुस्लिम समाज के भी शवों को दफनाने का काम किया जा रहा है।

मानवीय रिश्ते तार-तार

दरभंगा में कोरोना महामारी के इस दौर में मानवीय रिश्ते तार-तार होते नजर आ रहे हैं। कोरोना से जिनकी मौत हो रही है उसमें ज्यादातर के परिजन अपनों के शवों को छोड़कर भाग जा रहे हैं, ऐसे शवों के अंतिम संस्कार करने में दरभंगा जिला प्रशासन की मुश्किलें बढ़ रही हैं, लेकिन कबीर सेवा संस्थान के प्रमुख सदस्य नवीन सिन्हा और उनकी टीम  लगातार ऐसे कामों के लिए आगे आकर मिसाल पेश कर रहा है।

कबीर सेवा संस्थान ने उठा रखा है जिम्मा

कबीर सेवा संस्थान के प्रमुख सदस्य नवीन सिन्हा बताते हैं कि वो और उनकी टीम के सदस्य बारी-बारी से तमाम सुरक्षा मानकों के तहत ऐसे शवों का अन्तिम संस्कार कर रहे हैं।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget