भारत के लिए संकट मोचक बने कई देश

जानें किसने अब तक क्या-क्या दिया?

oxygen tanker

नई दिल्ली
 

कोरोना की दूसरी लहर में भारत की मदद के लिए दुनिया के तमाम देशों ने आगे हाथ बढ़ाया है। इनमें अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, रूस और ब्रिटेन जैसे देशों के साथ साथ ऑस्ट्रेलिया, सिंगापुर, चीन, कनाडा, थायलैंड सहित कई देश आगे आए हैं। इन देशों से भारत को न सिर्फ ऑक्सीजन बल्कि वेंटिलेटर और मास्क जैसी चीजें आनी शुरू हो गई हैं। बुधवार को सिंगापुर ने भारत के लिए ऑक्सीजन से भरे दो विमान रवाना कर दिए हैं, तो वहीं कनाडा ने भी ऐलान किया है कि वह भारत को 60 करोड़ की मदद देगा। वहीं, ब्रिटेन ने मंगलवार को ही 100 वेंटिलेटर और 95 ऑक्सीजन कॉन्सनट्रेटर्स की पहली खेप भेज दी है। मामले से जुड़े अधिकारी के मुताबिक अमेरिका से ऑक्सीजन से जुड़ी सप्लाई के साथ जांच और इलाज के लिए दवाओं और उससे जुड़े कच्चे माल के मोर्चे पर भी मदद आनी शुरू होने वाली है। यही नहीं वैक्सीन की भी मदद के बारे में बातचीत जारी है। 

इसके अलावा अमेरिकी कंपनियों गूगल, एपल, माइक्रोसॉफ्ट, एमेजॉन और डेलॉएट समेत कई कारोबारी संगठनों के जरिये आर्थिक और तकनीकी मदद भारत को मिल रही है। ब्रिटेन से 100 वेंटिलेटर्स और 95 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स 27 अप्रैल को पहुंच भी गए। वहीं, फ्रांस पहले फेज में देश में आठ बड़े ऑक्सीजन प्लांट तुरंत लगाएगा और अगले हफ्ते तक वहां से 5 लिक्विड ऑक्सीजन कंटेनर पहुंचने लगेंगे। जर्मनी कोरोना महामारी से जांच की तकनीक पर वेबिनार कर जानकारी साझा करेगा। ऑस्ट्रेलिया से भी बड़े पैमाने पर वेंटिलेटर्स, सर्जिकल मास्क, दस्ताने और गॉगल्स आएंगे।

यूरोपीय देशों की ओर से फौरी मदद 

आयरलैंड :- 700 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, एक ऑक्सीजन जनरेटर, 365 वेंटिलेटर 

बेल्जियम :- 9000 डोज रेमडेसिविर 

रोमानिया : - 80 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और 75 ऑक्सीजन सिलेंडर

लग्जमबर्ग : - 58 वेंटिलेटर 

पुर्तगाल : - 50503 शीशी रेमडिसिविर, 20 हजार लीटर ऑक्सीजन प्रति सप्ताह

स्वीडन : - 120 वेंटिलेटर

जर्मनी :- मोबाइल ऑक्सीजन प्लांट, 120 वेंटिलेटर, 8 करोड़ केएन 95 मास्क भेजेगा

ब्रिटेन :- 495 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, 140 वेंटिलेटर

कनाडा देगा 60 करोड़ की मदद

कनाडा की अंतरराष्ट्रीय विकास मंत्री करीना गुल्ड ने एलान किया कि कोरोना की लड़ाई के बीच कनाडा भारत को दस मिलियन कनाडियन डॉलर (60 करोड़ रुपए) की मदद करेगा। ये फंड कनाडा रेड क्रॉस को मुहैया कराया जा रहा है, जो इसे इंडियन रेड क्रॉस सोसायटी को हस्तांतरित करेगा।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget