ऑटो चालकों के सामने रोजी-रोटी का संकट

सिर्फ दो यात्रियों की परमिशन 

rikshaw

मुंबई

महाराष्ट्र में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार की नई गाइड लाइन के अनुसार अब ऑटो में सिर्फ दो ही यात्रियों को बैठने की परमिशन है। इससे ऑटो चालकों के सामने रोजी रोटी का संकट पैदा हो गया है। इन निर्णय पर ऑटो चालकों में भारी नाराजगी है। इधर, सोमवार से ट्रैफिक पुलिस ने दो से अधिक यात्री ले जाने वाले ऑटो चालकों पर कार्रवाई करनी शुरू कर दी है। उल्लेखनीय है कि वसई विरार में ऑटो मीटर से नहीं, शेयरिंग से चलते हैं। इसलिए उनके धंधे पर काफी बुरा असर होने लगा है। 

 जानकारी के अनुसार वसई विरार में लगभग 30 हजार से अधिक ऑटो चलते हैं। सरकार की नई गाइड लाइन जारी होने से ऑटो चालकों में भारी नाराजगी है। ऑटो में अब दो ही यात्रियों को बैठने की परमिशन है। पहले एक ऑटो में चार यात्रियों को बैठाया जाता था। दो की परमिशन से उनका धंधा चौबट होने लगा है। गोपाल यादव नामक ऑटो चालक ने बताया कि पहले नालासोपारा स्टेशन से हाइवे जाने वाले चार यात्रियों को ले जाते थे। उस वक्त पर यात्री से 30 रुपए किराया लिया जाता था। अब दो ही यात्रियों को ले जाना पड़ रहा है। लेकिन यात्री किराया बढ़ाने से ऑटो में नहीं बैठते हैं वे फिर बस से आने जाने लगे हैं। जिससे हमारा धंधा चौबट हो गया है। दो यात्रियों की परमिशन से चालक व यात्री दोनों को नुकसान हो रहा है। इधर, सोमवार से ट्रैफिक पुलिस ने तीन या उससे अधिक यात्री ले जाने वाले ऑटो चालकों पर कार्रवाई करनी शुरू कर दी है। 

ट्रैफिक हवलदार डी. एन. गायकवाड़ ने बताया कि कोरोनाकाल में सरकार की गाइड लाइन का पालन करना चाहिए। सरकार ने सोशल डिस्टेंसिंग के लिए ही यह फैसला लिया है। हमारी ओर से कार्रवाई जारी रहेगी।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget