रेमेडिसिवर के लिए जाना पड़ेगा सरकारी अस्पताल

remdesivir

नाशिक

करोना महामारी के मरीजों की संख्या जिले में कम होती जा रही है, यदि नागरिकों ने सहयोग किया तो महामारी के प्रादुर्भाव को रोकने के लिए काफी मदद मिलेगी। यह विचार जिले के पालक मंत्री छगन भुजबल ने व्यक्त किया है। कोरोना के प्रादुर्भाव का जायजा लेने के लिए जिलाधिकारी कार्यालय में एक बैठक का आयोजन किया गया था. बैठक के बाद पत्रकारों से चर्चा करते हुए पालक मंत्री छगन भुजबल ने कहा कि जिले में रेमेडिसीवर इंजेक्शन के 28,800 डोज उपलब्ध किये गये थे. जबकि जिले में 2500 मरीजों को इसकी आवश्यकता थी. फिर भी ज्यादा डोस कहां पर है गए हैं इसके बारे में मंथन करने के बाद नागरिक कौन है ज्यादा मात्रा में डोस खरीदी करने की बात सामने आई है इसी वजह से रेमडीसिव्हर लस कि किल्लत निर्माण हुई है स्पष्ट करते हुए उन्होंने कहा कि नासिक जिले में सभी सरकारी अस्पताल में रेमडीसिव्हर लस उपलब्ध होगी उसके लिए निजी अस्पताल के डॉक्टरों ने चिट्ठी देने के बाद ही निजी व्यक्ति को यह लस उपलब्ध की जाएगी यह स्पष्ट करते हुए उन्होंने कहा कि इसके बारे में सख्ती से कार्रवाई करने के आदेश दिए गए हैं। जिले के अस्पताल में उत्तर महाराष्ट्र के धुलिया जलगांव अहमदनगर जिले से मरीजों को भेजने के लिए वहां के डॉक्टरों ने यहां पर व्यवस्था है।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget