बंगाल में रैलियां लॉक, प्रचार डाउन

रोड शो, पद यात्रा, साइकिल और बाइक रैली की मंजूरी नहीं    जनसभा में 500 से ज्यादा लोग नहीं होंगे

mamta_banerjee

कोलकाता

चुनावी कैंपेन के दौरान राजनीतिक दलों द्वारा कोरोना प्रोटोकॉल तोड़ने पर अब इलेक्शन कमीशन ने सख्त रुख अपनाया है। EC ने गुरुवार को बंगाल में चुनाव प्रचार के लिए नई गाइडलाइन जारी की। इसके तहत रोड शो, पद यात्रा, साइकिल रैली या बाइक रैली को इजाजत नहीं दी जाएगी।

जनसभा में 500 से ज्यादा लोग इकट्ठा नहीं होंगे। इलेक्शन कमीशन ने कहा है कि चुनाव प्रचार के लिए हमने गाइडलाइंस जारी की थीं, लेकिन ये देखने में आ रहा है कि राजनीतिक दल इसका पालन नहीं कर रहे हैं।

ममता बनर्जी ने की बड़ी सभा

बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को बंगाल में चुनावी सभाएं की हैं। इसमें भारी भीड़ उमड़ी थी। इससे पहले रविवार को ही उन्होंने घोषणा की थी कि बढ़ते संक्रमण के चलते TMC की चुनावी रैलियां छोटी होंगी।

छठे चरण में बंपर वोटिंग

पश्चिम बंगाल विधानसभा के लिए छठे चरण के चुनाव में 43 विधानसभा सीटों पर वोटिंग समाप्त हो गई। बढ़ते संक्रमण के बीच 80% से ज्यादा मतदान हुआ। छठे फेज में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और कभी ममता के खास रहे मुकुल रॉय की किस्मत का फैसला होना है। रॉय नादिया जिले में कृष्णानगर उत्तर सीट से TMC की प्रत्याशी और बांग्ला अभिनेत्री कौशानी मुखर्जी और कांग्रेस के सिल्वी साहा के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं।

चुनाव आयोग का निर्देश

  • रोड शो और पदयात्रा की मंजूरी नहीं दी जाएगी।
  • साइकिल, बाइक या गाड़ियों की रैली की इजाजत नहीं दी जाएगी।
  • जनसभा में 500 से ज्यादा की भीड़ इकट्ठा नहीं हो सकेगी। इसके लिए भी पर्याप्त जगह, सोशल डिस्टेंसिंग और दूसरे कोरोना नियमों का सख्ती से पालन किया जाएगा।
  • रोड शो, पद यात्रा, साइकिल-बाइक-गाड़ियों की रैली के लिए मंजूरी अगर पहले ही दे दी गई है तो ये मंजूरी वापस ली जाती है। जनसभा के लिए अगर पहले से मंजूरी मिल चुकी है तो इसे नई गाइडलाइंस के हिसाब से करवाना होगा।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget