अब घर में भी मास्क लगाने का समय


नई दिल्ली

बढ़ते कोरोना संक्रमण पर सरकारें भी बेबस नजर आ रही हैं। सोमवार को नीति आयोग ने कहा कि अब वक्त आ गया है, जब हमें घर के अंदर परिवार के साथ रहते हुए भी मास्क पहनना चाहिए। साथ हीइस बात का भी ध्यान रखें कि मेहमानों को घर पर न बुलाएं। नीति आयोग में हेल्थ मिनिस्ट्रीके मेंबर डॉक्टर वीके पॉल ने कहा कि डर या भय न फैलाएं, इससे हालात सुधरने की बजाए और बिगड़ सकते हैं। अच्छी बात यह है कि अब लोग घर में भी मास्क लगाने लगे हैं।

डॉ. पॉल ने कहा कि रिसर्च बताती है कि अगर एक व्यक्ति फिजिकल डिस्टेंसिंग न अपनाए तो वह 30 दिन में 406 लोगों को संक्रमित कर सकता है। अगर कोरोना पॉजिटिव व्यक्तिअपना फिजिकल एक्सपोजर 50 प्रतिशत तक कम कर दे तो एक महीने में 15 लोग और 75 प्रतिशत कम करने पर ढाई लोगों को ही संक्रमित कर पाएगा। होम आइसोलेशन में अनइन्फेक्टेड व्यक्तिने मास्क लगाया है और इन्फेक्टेड व्यक्तिने मास्क नहीं लगाया है तो इन्फेक्शन का खतरा 30 फीसदी रहेगा। अगर इन्फेक्टेड और अनइन्फेक्टेड व्यक्ति, दोनों ने मास्क लगाया हो तो इन्फेक्शन का खतरा घटकर 1.5 प्रतिशत ही रहेगा।

पीरिएड्सके दौरान वैक्सीनेशन सुरक्षित

महिलाओं से जुड़े एक जरूरी सवाल पर सरकार ने कहा है कि मासिक धर्मया माहवारी(पीरिएड्स) के दौरान भी वैक्सीन लगवाना सुरक्षित है। यानी वैक्सीन का पीरिएड्ससे कोई संबंध नहीं है। बता दें किइस मामले को लेकर कई दिनों से सोशल मीडिया पर बहस छिड़ीहुई है, जिसमें यह अफवाह फैलाई जा रही थी कि पीरियड्सके दौरान महिलाओं के लिए वैक्सीन लगवाना नुकसानदायक है।

डरने की जरूरत नहीं

सरकार ने कहा है कि महामारीसे डरने की जरूरत नहीं है। इससे फायदे की बजाए नुकसान ही होगा। डॉक्टर पॉल के मुताबिक, भारत में मेडिकल यूज के लिए पर्याप्त ऑक्सीजन मौजूद है, लेकिन उन्होंने माना कि इसको ट्रांसपोर्ट करना यानीअस्पतालों तक पहुंचाना बड़ी चुनौती है। उन्होंने कहा किकुछ लोग सिर्फ डर की वजह से हॉस्पिटल्समें बेड बुक करा रहे हैं।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget