बीसीसीआई ने आईपीएल से पहले उठाया बड़ा कदम

भ्रष्टाचारियों की खैर नहीं

BCCI

नई दिल्ली

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड भ्रष्टाचार रोकने के लिए बेहद गंभीर रहती है। उसकी भ्रष्टाचार निरोधक ईकाई लगातार सक्रिय रहती है और हर जरुरी कदम उठाती है। इस ईकाई की कमान अभी तक अजीत सिंह के हाथों में थी। 

बीसीसीआई ने अब गुजरात के पूर्व डीजीपी शब्बीर हुसैन एस खंडवावाला को अपनी भ्रष्टाचार निरोधक ईकाई की कमान सौंपी है। वह अब ईकाई के नए प्रमुख होंगे और अजित सिंह की जगह लेंगे। इस बार बीसीसीआई ने इस पद के लिये आवेदन नहीं मांगे थे।

राजस्थान के पूर्व डीजीपी अजीत सिंह अप्रैल 2018 में पद पर काबिज हुए थे और उनका कार्यकाल 31 मार्च को खत्म हो गया। उन्होंने बताया कि वह अगले प्रमुख की मदद के लिए कुछ दिन काम जारी रखेंगें। 

वहीं 1973 बैच के आईपीएस अधिकारी खंडवावाला को नौ अप्रैल से शुरू हो रहे आईपीएल से पहले इस पद पर नियुक्त किया गया है।

अनुभव का मिलेगा फायदा

खंडवावाला ने कहा है कि उनके पास जो अनुभव है उसका उन्हें फायदा मिलेगा और वह बीसीसीआई की अच्छे से मदद कर पाएंगे। उन्होंने कहा, “यह बड़े फख्र की बात है कि मैं बीसीसीआई का हिस्सा बन रहा हूं जो दुनिया में सबसे अच्छा क्रिकेट संगठन है। सुरक्षा मसलों पर मेरे अनुभव का फायदा मुझे इस काम में मिलेगा।” वह दिसंबर 2010 में गुजरात के डीजीपी पद से रिटायर हुए थे। उसके बाद दस साल से एस्सार समूह के सलाहकार हैं। वह केंद्र सरकार की लोकपाल सर्च समिति के भी सदस्य रहे। वह बुधवार को चेन्नई जाएंगे। इससे पहले उन्होंने भारत और इंग्लैंड के बीच आखिरी वनडे भी देखा था।

आईपीएल पर रहेगी नजर

खंडवावाला को आईपीएल जैसे बड़े टूर्नामेंट से पहले यह जिम्मेदारी दी गई है। आईपीएल आते ही दुनिया भर के सट्टेबाज सक्रिय हो जाते हैं। आईपीएल में पूर्व में फिक्सिंग का साया भी पड़ चुका है। इस टूर्नामेंट पर लगातार सट्टेबाजों की नजर रहती है। ऐसे में नए प्रमुख की कोशिश पैसा बरसाने वाली इस लीग को भ्रष्टाचार से दूर रखने की होगी।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget