दिलीप वलसे पाटिल ने संभाली जिम्मेदारी

प्रशासकीय कार्यों में राजनीतिक हस्तक्षेप नहीं

dilip valse patil

मुंबई

राज्य के नए गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटिल ने कहा कि वर्तमान समय बहुत ही कठिन और चुनौतीपूर्ण है। उन्होंने कहा कि वे स्वच्छ प्रशासन पर जोर देंगे और प्रशासकीय कार्यों में राजनीतिक हस्तक्षेप नहीं करेंगे। गृह विभाग का कामकाज संभालने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए वलसे पाटिल ने कहा कि वे अपनी जिम्मेदारियों को पूरा करेंगे। उन्होंने नई जवाबदारी देने के लिए राकांपा अध्यक्ष शरद पवार, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, राकांपा प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल और उपमुख्यमंत्री अजित पवार के प्रति आभार प्रकट किया। पाटिल ने कहा कि कोरोना की वजह से पुलिस बल सड़कों पर है। पुलिस का काम कानून और व्यवस्था को बनाए रखना है, फिर भी उन्हें कोरोना की वजह से ड्यूटी करनी पड़ रही है। अब अप्रैल माह में गुडीपाडवा, रामनवमी, आंबेडकर जयंती, रमजान जैसे कई पर्व आ रहे हैं। हर धर्म की दृष्टि से ये त्यौहार महत्वपूर्ण हैं। ऐसे में हमें इस माह अधिक चुनौतीपूर्ण स्थितियों का सामना करना होगा।

इस वजह से फड़नवीस  को मिली जानकारी

विपक्ष के नेता देवेंद्र फड़नवीस को पुलिस बल की जानकारी कैसे मिली? इस बारे में दिलीप वलसे पाटिल ने कहा कि वे मुख्यमंत्री थे। साथ ही पांच साल तक गृह विभाग भी उनके पास था। ऐसे में गृह विभाग के अधिकारियों का उनके संपर्क में रहना स्वाभाविक है। इस वजह से उन्हें जानकारी मिली। उनसे पूछा गया कि पुलिस में आरएसएस से संबंध रखने वाले अधिकारी हैं? तो उन्होंने कहा कि किसकी निष्ठा किसके साथ है, इसकी जांच की जाएगी।

हाईकोर्ट के आदेश को देंगे चुनौती

गृहमंत्री ने कहा कि सोमवार को हाईकोर्ट ने परमबीर सिंह प्रकरण में जो आदेश दिया, उसे सरकार सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देगी और अदालती आदेश का पूरी तरह पालन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पुलिस बल को सशक्त बनाया जाएगा और नियमों के अनुसार तबादले किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि कोई क्या आरोप लगा रहा है, यह उनका सवाल है। मैं पारदर्शी तरीके से काम करने पर जोर दूंगा। रोजाना के जो छोटे-मोटे अपराध होते हैं, उनसे निपटने के लिए अलग प्रणाली बनाने की कोशिश करूंगा।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget