राज्य में कोरोना और भ्रष्टाचार चरम पर: राणे

Narayan Rane

मुंबई

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा सांसद नारायण राणे ने आरोप लगाया कि कोरोना का फैलाव रोकने में असफल रही महाविकास आघाड़ी सरकार के कार्यकाल में भ्रष्टाचार चरम पर पहुंच गया है। वे शुक्रवार को प्रदेश भाजपा कार्यालय में एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थे।  

लॉकडाउन लगाने की जल्दबाजी में सीएम  

राणे ने कहा कि राज्य में कोरोना रोगियों की संख्या तेजी से बढ़ी है, ऐसे हालात से निपटने के लिए प्रभावी कदम उठाने के बजाय मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे लॉकडाउन लगाने के लिए उतावले हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि तेजी से टीका लगाने और अस्पतालों में बड़े पैमाने पर बेड उपलब्ध कराने की योजना नहीं होने से मरीज तेजी से बढ़े हैं।

कैसे समझेंगे लोगों की तकलीफ?

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की तरफ से नियम का पालन करो, अन्यथा लॉकडाउन लगाने की धमकी दी जा रही है, लेकिन इस लॉकडाउन की वजह से समाज के विभिन्न तबकों को कितना बड़ा नुकसान होगा, इसका अंदाजा मुख्यमंत्री को नहीं है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री घर से बाहर नहीं निकलते, ऐसे में वे लोगों की तकलीफ को कैसे समझ पाएंगे?

सरकार का संकुचित दृष्टिकोण

उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में कोरोना और अपराध के साथ भ्रष्टाचार तेजी से बढ़ा है। हर विभाग, हर निविदा की प्रक्रिया में भ्रष्टाचार शुरू है। राणे ने कहा कि बाला साहेब ठाकरे स्मारक की जगह से लेकर विभिन्न विभागों की अनुमति दिलाने के लिए मुख्यमंत्री रहते हुए सबसे अधिक मेहनत देवेंद्र फड़नवीस ने की थी, लेकिन महाविकास आघाड़ी सरकार ने स्मारक के भूमिपूजन कार्यक्रम में उन्हें आमंत्रित न कर अपना संकुचित रवैया दिखाया है।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget