केरल में एलडीएफ और यूडीएफ पर बरसे योगी


हरिपाद (केरल)

 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केरल में कथित ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून नहीं लाने पर राज्य के दोनों प्रतिद्वंद्वी मोर्चों-एलडीए और यूडीएफ- पर निशाना साधा। उन्होंने केरल के अपने समकक्ष पिनराई विजयन पर भी हमला करते हुए आरोप लगाया कि उनका कार्यालय सोने की तस्करी में शामिल रहा है। केरल में छह अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार कर रहे योगी आदित्यनाथ ने अलप्पुझा जिले के हरिपाद में भाजपा की रैली को संबेाधित करते हुए कहा कि सोने की तस्करी का मामला भारत के इतिहास की सबसे ‘शर्मनाक’ घटना है।

उल्लेखनीय है कि केरल में सोने की तस्करी का मामला पिछले साल तिरुवनंतपुरम हवाई अड्डे पर जब्त 30 किलोग्राम सोने से जुड़ा है जिसकी कीमत 14.8 करोड़ रुपये है। इस मामले की जांच विभिन्न केंद्रीय एजेंसियां कर रही हैं और प्रमुख आरोपी स्वप्ना सुरेश के साथ संबंध होने के आरोप में मुख्यमंत्री के पूर्व प्रधान सचिव एम शिवशंकर को गिरफ्तार किया गया था।

माकपा नीत सत्तारूढ़ लोकतांत्रिक वाम मोर्चे (एलडीएफ) और कांग्रेस नीत विपक्षी संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चे (यूडीएफ) पर निशाना साधते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि दोनों की उनकी सरकार द्वारा लाए कानून के अनुरूप ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून को लागू करने में कोई रुचि नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया कि वर्ष 2009 में केरल उच्च न्यायालय ने लव जिहाद के खिलाफ टिप्पणी की थी, लेकिन राज्य सरकार ने अब तक इसे रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठाया। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में लव जिहाद के खिलाफ कानून लागू किया गया है। उन्होंने सवाल किया, ‘केरल में इसे क्यों नहीं लागू किया जा रहा?’ मुख्यमंत्री ने कहा कि यह जानते हुए भी कि पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) और उसकी राजनीतिक इकाई सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) जैसे संगठन कथित रूप से गैर कानूनी गतिविधियों में शामिल हैं, राज्य को खतरनाक स्थिति में धकेला जा रहा है, दोनों मोर्चों ने आंखों पर पट्टी बांध ली है और उनके खिलाफ कोई भी कार्रवाई करने में असफल हुए हैं। 


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget