'पत्रकार कप्पन को इलाज के लिए भेजा जाए दिल्ली'

kappan

नई दिल्ली

सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को बुधवार को सुझाव दिया कि पिछले साल गिरफ्तार किए गए केरल के पत्रकार सिद्दीकी कप्पन को बेहतर इलाज के लिए दिल्ली भेजा जाए। सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने सुप्रीम कोर्ट के इस सुझाव का विरोध किया है। मेहता ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि “यदि कोई मेडिकल इमरजेंसी है, तो उत्तर प्रदेश सरकार यह सुनिश्चित करे कि मथुरा के अस्पताल में ही उसकी जांच हो और जो कुछ भी करना पड़े, वह बिना किसी डर के किया जाएगा। उसे उसके परिवार के लिए दिल्ली भेजना लाखों के साथ अन्याय होगा। उन्होंने कहा कि मथुरा की जेल में कई मरीज बिना सुविधाओं के हैं और कई लोगों को बेड तक नहीं मिल रहे हैं। मेहता ने आगे कहा कि मैं खुद उत्तर प्रदेश में बहुत से लोगों को जानता हूं जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल में बेड तक नहीं मिल रहे। अगर डॉक्टर कहते हैं कि कप्पन को भर्ती करने की जरूरत है, तो हम उन्हें मथुरा के अस्पताल में भर्ती कर सकते हैं। इधर, सुनवाई कर रही पीठ ने कहा कि “हम स्वास्थ्य के मुद्दे तक सीमित हैं। यह राज्य के हित में भी है कि आरोपी को बेहतर इलाज मिले।” गौरतलब है कि पिछले साल 16 नवंबर को, शीर्ष अदालत ने पत्रकार की गिरफ्तारी को चुनौती देने वाली याचिका पर उत्तर प्रदेश से जवाब दाखिल करने को कहा था। 

पोपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) से कथित तौर पर संबंध रखने के आरोप में चार लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की विभिन्न धाराओं और गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) कानून (यूएपीए) के प्रावधानों के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई थी।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget