युवा विश्व मुक्केबाजी : भारत ने चार पदक पक्के किए

boxing

नई दिल्ली

एशियाई चैम्पियन विंका और अलफिया पठान उन चार भारतीय मुक्केबाजों में शामिल हैं, जिन्होंने पोलैंड के किलसे में चल रही पुरूष और महिला युवा विश्व चैम्पियनशिप के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया। गीतिका और पूनम दो अन्य मुक्केबाज हैं जिन्होंने अंतिम चार चरण में जगह बनायी और इन्होंने देश के लिये कम से कम कांस्य पदक कर लिये। सभी चारों मुक्केबाजों ने अपने क्वार्टरफाइनल मुकाबलों में शानदार प्रदर्शन किया। पानीपत की मुक्केबाज विंका ने 60 किग्रा वर्ग में अपनी कोलंबियाई प्रतिद्वंद्वी कैमिलो कैमेला को 5-0 से पराजित किया जबकि 2019 एशियाई जूनियर चैम्पियन अलफिया (81 किग्रा से अधिक) ने भी इसी अंतर से हंगरी की मुक्केबाज रेका हॉफमैन को शिकस्त दी। पूनम ने 57 किग्रा वर्ग में कजाखस्तान की नाजेर्के सेरिक पर 5-0 से आसान जीत से सेमीफाइनल में प्रवेश किया।  गीतिका (48 किग्रा) ने फिर शानदार प्रदर्शन करते हुए रोमानिया की एलिजाबेथ ओस्तान पर शुरू से ही मुक्कों की बरसात कर दी जिससे रैफरी को पहले राउंड में ही मुकाबला रोकने के लिए मजबूर होना पड़ा और हरियाणा की इस मुक्केबाज को विजेता घोषित कर दिया गया।  वहीं एक अन्य महिला मुक्केबाज खुशी (81 किग्रा) को क्वार्टरफाइनल में तुर्की की बुसरा इसिलदार से हार मिली।

 पुरूषों के वर्ग में मनीष (75 किग्रा) और सुमित (69 किग्रा) ने क्रमश: जोर्डन के अब्दल्लाह अलाराग और स्लोवाकिया लाडिस्लाव होरवाथ पर 5-0 के समान अंतर से जीत दर्ज कर क्वार्टरफाइनल में स्थान सुनिश्चित किया। 

इस बीच आकाश गोरखा (60 किग्रा) और विनीत (81 किग्रा) आगे नहीं बढ़ सके जिन्हें अंतिम 16 के मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ा।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget