घर-ऑफ़िस को सैनिटाइज़ करें लेकिन संभल कर

sanitizer

आजकल सब अपने मकान-दुकान की सफ़ाई करने में रुचि लेने लगे हैं और उन जगहों को डिसइन्फ़ेक्ट करने के लिए उतावले हुए जा रहे हैं. यह सब हम कोरोना वायरस से बचने के लिए कर रहे हैं. ज़्यादातर लोग अपने घरों को, दुकानों को, ऑफ़िस को, मॉल को और क्लीनिक को नियमित सैनिटाइज़ कर रहे हैं. एक बार नहीं दिन में कई-कई बार. नई-नई विधियां और तरीक़े अपनाए जा रहे हैं. कहीं टनल तो कहीं स्प्रे किया जा रहा है. कोई किसी के यहां आया और उसके जाने के बाद घर और ऑफ़िस वाले उस जगह को डिसइन्फ़ेक्ट करने के लिए उतावले हो रहे हैं. डिसइन्फ़ेक्ट करने के लिए आमतौर पर जो रसायन उपयोग किया जाता है वह है सोडियम हाइपोक्लोराइट. यह एक प्रसिद्ध कीटाणु नाशक लिक्विड है, जो हल्के हरे या पीले रंग का होता है.

  •   सोडियम हाइपोक्लोराइट की फ़्यूम/स्प्रे से खांसी होती है और गले में तक़लीफ़ होने लगती है. ज्ञात रहे कि ये दोनों ही लक्षण कोरोना के भी हैं. ऐसे में इन छद्म लक्षणों से आप में और डर पैदा हो सकता है कोरोना को लेकर. इसकी गंध से कई लोगों को मनोभ्रंश भी हो सकता है.
  •   सोडियम हाइपोक्लोराइट त्वचा पर लग जाने से खुजली, जलन, फफोले हो सकते हैं इसलिए जहां इससे फ़र्श को धोया गया हो वहां नंगे पैर ना जाए और इसके घोल को हाथ से ना छुएं.
  •   आंखों में लगने से वे लाल हो सकती है, उनमें जलन होने लगती है, आंसू आते हैं और फ़ोटोफ़ोबिया हो सकता है.
  •   अगर इसे ग़लती से पी लिया या यह केमिकल मुंह में चला गया तो उल्टियां, पेट में जलन, दस्त और पेट दर्द हो सकता है.
  • इसका इस्तेमाल करते समय आपको क्या सावधानी रखनी चाहिए?
  •   इसका छिड़काव करने के बाद कुछ घण्टों तक उस जगह पर ना जाएं. अच्छा तो यह है कि शाम को ऑफ़िस बन्द करने के समय इसका छिड़काव करवाएं.
  •   पीपीई किट पहनकर ही इसका छिड़काव करें.
  •   अस्थमा एलर्जी से पीड़ित रोगी इससे दूर रहें.
  •   अस्पतालों में रोगियों के वॉर्ड को ख़ाली करके ही इसका छिड़काव करें और उन्हें कुछ घंटों बाद ही प्रवेश दें. उनके वहां रहते हुए ही छिड़काव कर दे जानलेवा हो सकता है. उज्जैन और इंदौर के अस्पतालों के कर्मचारियों से यह जानलेवा लापरवाही हो चुकी है.
  •   इसके घोल से हाथ ना धोएं और ना इसकी फ्यूम/स्प्रे से हाथों को डिसइन्फ़ेक्ट करें.
  •   अति सर्वत्र वर्जियते… इसलिए सोडियम हाइपोक्लोराइट की अति करके कोई नई मुसीबत ना खड़ी कर लें.
  •  याद रखें, अज्ञानता से उपयोग की गई अच्छी चीज़ भी जानलेवा साबित हो सकती है.


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget