दीपाली चव्हाण केस की हो उच्च स्तरीय जांच

देवेंद्र फड़नवीस ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र  

fadanvis

मुंबई

पूर्व मुख्यमंत्री और विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फड़नवीस ने मेलघाट बाघ अभयारण्य परियोजना की वन परिक्षेत्र अधिकारी दीपाली चव्हाण आत्महत्या मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लिखे पत्र में की है। साथ ही उन्होंने जांच के लिए महिला आईपीएस अधिकारी नियुक्त करने और मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने के लिए विशेष सरकारी वकील के रूप में उज्जवल निकम को नियुक्त करने की भी मांग की है।

विनोद शिवकुमार, रेड्डी को किया जाए बर्खास्त

मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में फड़नवीस ने निलंबित उप वनसंरक्षक विनोद शिवकुमार और अतिरिक्त प्रधान मुख्य वनसंरक्षक तथा मेलघाट क्षेत्र के निलंबित निदेशक एमएस रेड्डी को बर्खास्त करके उनके खिलाफ विभागीय जांच शुरू करने की मांग की है। रेड्डी को इस मामले में सह आरोपी बनाने की भी मांग की है। फड़नवीस ने कहा कि मामले में फौजदारी कार्रवाई शुरू होने के चलते  विभागीय जांच करना आवश्यक था, लेकिन आरोपियों को बचाने के लिए अंतर्गत जांच समिति का गठन किया गया है। आखिर राज्य सरकार किसी भी मामले के आरोपियों को क्यों बचाना चाहती है? फड़नवीस ने कहा कि सरकारी सेवा में कार्यरत महिला अधिकारी को वरिष्ठों द्वारा उत्पीड़न करने के कारण आत्महत्या करना पड़े, यह प्रगतिशील महाराष्ट्र के लिए अशोभनीय घटना है। बता दें कि बीते 25 मार्च को दीपाली ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। उन्होंने अपने सुसाइड नोट में शिवकुमार पर उत्पीड़न के गंभीर आरोप लगाए थे। दीपाली ने  लिखा था कि शिवकुमार के खिलाफ की गई शिकायत पर रेड्डी ने कोई कार्रवाई नहीं की।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget