विस्फोटक मामले में गिरफ्तार रियाजुद्दीन काजी सस्पेंड

riyazuddin kazi

मुंबई

उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के पास मिली विस्फोटक से भरी स्कॉर्पियो मामले में गिरफ्तार सहायक पुलिस निरीक्षक रियाजुद्दीन काजी को लोकल आर्म्स यूनिट से सस्पेंड कर दिया गया है। फिलहाल वह 16 अप्रैल तक राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की कस्टडी में है। 

सूत्रों के मुताबिक एनआईए काजी को इस मामले में गिरफ्तार और मुंबई की तलोजा जेल में बंद सचिन वझे के कुछ अड्डों पर ले जा सकती है। एनआईए का मानना है क्राइम इंटेलिजेंस यूनिट (सीआईयू) में रहने के दौरान काजी अक्सर इन जगहों पर वझे के साथ जाया करता था। अपर पुलिस आयुक्त वीरेंद्र मिश्र ने बताया है कि एनआईए ने एपीआई रियाजुद्दीन काजी को एक्सप्लोसिव एक्ट में गिरफ्तार किया है। इसलिए रियाजुद्दीन काजी को अगले आदेश तक के लिए निलंबित किया गया है। काजी की भूमिका स्कॉर्पियो के मालिक मनसुख हिरेन की हत्या में भी संदिग्ध है। जांच में सामने आया है कि एंटीलिया मामले में गिरफ्तार और मुंबई की तलोजा जेल में बंद सचिन वझे के कहने पर ही रियाजुद्दीन ने इस केस से जुड़े सबूत मिटाने की कोशिश की थी।

काजी को वझे का राजदार माना जाता है

इस मामले में एनआईए काजी से कई दिनों तक, कई घंटे पूछताछ कर चुकी है। काजी की भूमिका शुरू से ही इस केस में संदिग्ध बताई जा रही थी। उसे सचिन वझे का सबसे करीबी राजदार माना जाता है। इसलिए एनआईए को उसके पास से कई अहम सबूत मिल सकते हैं।

वझे के कहने पर सबूत मिटाए

सूत्रों के मुताबिक रियाजुद्दीन काजी ने 26 फरवरी को सचिन वझे की ठाणे स्थित साकेत सोसायटी में जाकर वहां के सीसीटीवी और डीवीआर अपने कब्जे में ले लिए थे। बाद में इन सबूतों को नष्ट कर मीठी नदी में फेंक दिया था। रियाजुद्दीन काजी के सरकारी गवाह बनने की भी चर्चा थी।

सीसीटीवी फुटेज बना अहम सबूत

जांच के दौरान एनआईए को विक्रोली पूर्व के कन्नमवार नगर इलाके में एक नंबर प्लेट बनाने की दुकान के बाहर लगा सीसीटीवी फुटेज मिला था जिसमें काजी नंबर प्लेट बनाने वाली दुकान में जाते हुए दिखाई दे रहा था। जांच में सामने आया कि काजी दुकान के बाहर लगे सीसीटीवी का डीवीआर जब्त करने आया था। फुटेज में वह दुकान मालिक के साथ बाहर जाता हुआ भी दिखाई दिया था।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget