दिल में छेद वाले बच्चों का होगा मुफ्त इलाज

पटना

 मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हृदय रोग (दिल में छेद) से ग्रसित 21 चयनित बच्चों को इलाज के लिए शुक्रवार को अहमदाबाद रवाना किया। ये बच्चे अपने अभिभावक के साथ हवाई जहाज से रवाना हुए। बाल हृदय योजना के तहत ऐसे बच्चों के मुफ्त इलाज का प्रावधान सात निश्चय पार्ट-2 में किया गया है। इसकी शुक्रवार से शुरुआत हो गई। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी बच्चे के हृदय में छेद हो जाता है तो किसी को जानकारी रहती नहीं है। बाद में कुछ उम्र के बाद बच्चों को कई तरह की कठिनाई होने लगती है। इसको ध्यान में रखते हुए हम लोगों ने निर्णय लिया कि बच्चों की जांच कराएंगे और उनका मुफ्त में इलाज कराएंगे।  बिहार में आईजीआईसी और आईजीआईएमएस में अभी इनकी जांच की जा रही है और जल्द ही इलाज भी यहां शुरू होगा। राज्य के अन्य जगहों पर भी इलाज इसका होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि गुजरात के अहमदाबाद के निजी अस्पताल के साथ करार हुआ है। उस अस्पताल में देश के अनेक राज्यों के बच्चों का मुफ्त इलाज होता है, लेकिन अस्पताल आने-जाने और वहां रहने आदि का जो खर्च होगा, वह राज्य सरकार देगी। अभिभावक का भी। 

ये बच्चे पूरा इलाज कराने के बाद लौटेंगे तो मीडिया से उनकी बात कराएंगे। इलाज के बाद कैसा असर हुआ, बच्चे बताएंगे। अभी हम सभी बच्चों को देख रहे हैं। 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget