कूचबिहार जाने से रोकने पर चुनाव आयोग पर भड़कीं ममता

mamta banerjee

कोलकाता

पश्चिम बंगाल के कूचबिहार जिले  में शनिवार को चौथे दौर की वोटिंग के दौरान एक मतदान केंद्र पर सीआईएसएफ कर्मियों द्वारा की गई गोलीबारी का मामला तूल पकड़ चुका है। इस गोलीबारी में चार लोगों की मौत हो गई थी। इस घटना को लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी केंद्र सरकार, चुनाव आयोग और सुरक्षाबलों पर लगातार निशाना साध रही हैं। उन्होंने रविवार को प्रेस कॉन्फेंस करके आरोप लगाया कि चुनाव आयोग ने उन्हें वहां जाने से रोकने के लिए 72 घंटे का बैन लगाया है। बता दें कि शनिवार की घटना के बाद से आयोग ने किसी भी नेता के वहां जाने पर 72 घंटे की रोक लगा दी है।

ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग पर निशाना साधते हुए कहा, 'निर्वाचन आयोग तथ्यों को दबाने की कोशिश कर रहा है, सीतलकूची में ग्रामीणों पर बंदूकें तानी गईं। नेताओं को कूचबिहार जाने से रोकना निर्वाचन आयोग का अभूतपूर्व कदम है। मैं सीतलकूची जाना चाहती हूं।'

ममता ने ये भी आरोप लगाया कि लोगों पर जानबूझ कर गोलियां चलाई गई। उन्होंने कहा, ' ये नरसंहार है। उनके मुताबिक सुरक्षाकर्मियों को पैर या फिर शरीर के निचले भाग में गोली मारनी चाहिए थी, लेकिन उन्होंने सीने और गर्दन के ऊपर गोलियां मारीं। इस घटना में जिन लोगों की मौत हुई है उन्हें गले और छाती पर गोली लगी'। ममता बनर्जी ने कहा, 'सीआईएसएफ को स्थितियों से निपटना नहीं आता। मैं चुनाव के पहले चरण से कह रही हूं कि केंद्रीय बलों का एक वर्ग लोगों पर अत्याचार कर रहा है। मैंने नंदीग्राम में भी यह मामला उठाया था, लेकिन किसी ने मेरी बात पर ध्यान नहीं दिया।' कूचबिहार में गोलीबारी में चार लोगों की मौत के संदर्भ में केंद्रीय बलों द्वारा 'आत्मरक्षा में' यह कदम उठाये जाने की दलील पर सवाल खड़ा करते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि उनकी सरकार इस घटना की सीआईडी जांच कराएगी। 


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget