लॉकडाउन के विरोध में सड़क पर उतरे व्यापारी


मुंबई

मुंबई समेत महाराष्ट्र के कई शहरों में कोरोना के मामले बहुत तेज रफ्तार से बढ़ रहे हैं। जिसकी वजह से प्रशासन की चिंता काफी ज्यादा बढ़ चुकी है। तमाम कोशिशों के बावजूद कोरोना की दूसरी लहर नियंत्रण में नहीं आ रही है। ऐसे में सरकार ने पूरे राज्य के अंदर नाइट कर्फ्यू लगाया हुआ है। बावजूद इसके कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। राज्य सरकार ने तमाम जनता से कोरोना के सभी नियमों का पालन करने की अपील की थी। ताकि लॉकडाउन लगाने की नौबत ना आए। हालाकी सड़कों पर लोगों की लापरवाहियां खुलेआम दिखाई पड़ रही हैं। ऐसे में लॉकडाउन लगाने की आशंका बढ़ती ही जा रही है, इस संभावित लॉकडाउन को देखते हुए छोटे व्यापारियों की मुश्किलें बढ़ती हुई नजर आ रही हैं। आज मुंबई के छोटे व्यापारियों ने ओशिवारा इलाके में इकट्ठा होकर सरकार से लॉकडाउन ना लगाने की अपील की है। उनका कहना है कि लॉकडाउन लगने से उद्योग-धंधे और दुकानें सब कुछ बंद हो जाएगा। व्यापार पूरी तरह से बर्बाद हो जाएगा। इस वजह से तमाम लोगों की रोजी-रोटी पर विपरीत प्रभाव पड़ेगा और कई लोग बेरोजगार हो जाएंगे। इस तरह के मुश्किल भरे हालात पिछले साल लोगों ने झेले हैं। ऐसे में इस बार सरकार लॉक लगाने के बारे में बिल्कुल भी ना सोचे। प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संजय निरुपम व्यापारियों के साथ मौजूद थे।

लॉकडाउन को कांग्रेस का विरोध 

लॉकडाउन के बारें में अलग-अलग बातें सुनने में आ रही है। हर तरफ से लॉकडाउन के बारें में अलग अलग मत सुनने में आ रहे है। परंतु कांग्रेस का लॉकडाउन के बारें में स्पष्ट मत है की, लॉक डाउन होना ही नहीं चाहिए। क्योंकि पिछले वर्ष जब लॉकडाउन हुआ, उसके बाद सालभर देश आम नागरिकों की स्थिति बहुत ही ख़राब रही थी, यह हम सबने देखा है। मजदुर, व्यापारी, छोटे-मोटे व्ययवसायिक और आम नागरिक सभी को इस बुरे दौर से गुजरना पड़ा था। इस लॉकडाउन में देश के नागरिकों ने अपने जीवन में जो भी पूंजी जमा की थी, उससे साल भर जैसे-तैसे अपना गुजरा कर लिया। लेकिन अब, अगर लॉकडाउन फिर से होता है, तो इसका सामान्य नागरिकों और उनके परिवारों पर गंभीर परिणाम होंगे। इसीलिए लॉकडाउन होना ही नहीं चाहिए, ऐसी हमारी स्पष्ट भूमिका है और आगे भी यही भूमिका रहेगी। लॉकडाउन करने के बजाए कोविड की स्थिति ध्यान में रखते हुए अधिक सख्त प्रतिबंधात्मक उपाय और नियम लागु किये जाये, ऐसी हमारी मांग है और राज्य सरकार भी हमारी भूमिका से सहमत है, ऐसा नजर आ रहा है, ऐसी जानकारी मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष भाई जगताप ने एक पत्रकार सम्मेलन की दौरान दी। इस पत्रकार सम्मलेन में उनके समेत मुंबई कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष चरणसिंग सप्रा, मुंबई कांग्रेस के ट्रेजरर भूषण पाटील, महासचिव सन्देश कोन्डविलकर भी उपस्थित थे।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget