कोरोना : महाराष्ट्र में महारफ्तार

कड़ी पाबंदियां लागू


मुंबई

महाराष्‍ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण से हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। पिछले 24 घंटे में यहां 67 हजार से ज्‍यादा केस आए हैं। कोरोना चेन को तोड़ने के लिए उद्धव ठाकरे सरकार ने 22 अप्रैल से 1 मई तक पूरे राज्‍य में और कड़ी पाबंदी लगा दी है। दूसरे जिले में लोग सिर्फ जरूरी कारण होने पर ही सफर कर पाएंगे।

इसके अलावा सरकारी दफ्तर में सिर्फ 15 प्रतिशत लोगों को आने की अनुमति मिलेगी। पहले यह 50 फीसदी था। शादी समारोह में 25 लोग मौजूद रहेंगे। यहां सिर्फ 2 घंटे के भीतर ही समारोह खत्‍म करना होगा। जो परिवार नियम का उल्लंघन करेंगे उन पर 50हजार का जुर्माना लगाया जाएगा। प्राइवेट बसें 50 % क्षमता के साथ चलाई जा सकती हैं। इस दौरान कोई भी यात्री खड़ा होकर यात्रा नहीं करेगा। ये बसें एक जिले से दूसरे जिले और एक शहर से दूसरे शहर में नहीं चलेंगी। जरूरी सर्विस से जुड़े या फिर किसी इमरजेंसी के लिए ऐसा किया जा सकता है। अगर इस नियम को फॉलो नहीं करते हुए कोई पाया जाता है तो उस पर 10 हजार रुपये का जुर्माना लगेगा।

लोकल ट्रेन, मोनो और मेट्रो का इस्तेमाल सेंट्रल गवर्नमेंट, स्टेट गवर्नमेंट और लोकल अथॉरिटी के स्टाफ के साथ डॉक्टर और जरूरी सेवाओं से जुड़े लोग ही कर सकते हैं। लोकल ट्रेन का मेडिकल इमरजेंसी के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके अलावा निजी बस को एक जिले से दूसरे जिले ले जाने पर पहले लोकल DMA को सूचना देना जरूरी होगा। साथ ही निजी बस वालों की जिम्मेदारी होगी कि दूसरे जिले जाने वालों के हाथ में 14 दिन क्‍वारंटीन का ठप्‍पा लगाया जाए। 

महाराष्ट्र में बुधवार को लॉकडाउन के ऐलान से पहले कोरोना वायरस संक्रमण के 67,468 नए मामले सामने आए हैं। 568 रोगियों की मौत हो गई है। 

 18 अप्रैल को एक दिन में संक्रमण के सबसे अधिक 68,631 मामले सामने आए थे। महाराष्ट्र सरकार के एक अधिकारी ने कहा कि 568 और रोगियों की मौत के बाद मृतकों की कुल संख्या 61,911 हो गई है। वहीं, मुंबई में संक्रमण के 7,654 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 6,01,713 हो गई है। इसके अलावा 62 रोगियों की मौत के बाद मृतकों की तादाद 12,508 तक पहुंच गई है।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget