जीत की पटरी पर लौटी मुंबई इंडियंस

राजस्थान को सात विकेट से दी मात

mumbai indians

नई दिल्ली

विकेटकीपर बल्लेबाज क्विंटन डिकॉक के नाबाद अर्द्धशतक से मुंबई इंडियन्स ने इंडियन प्रीमियर लीग में गुरुवार को यहां राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 7 विकेट से आसान जीत दर्ज की।

रॉयल्स की टीम शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों कप्तान संजू सैमसन (42), जोस बटलर (41), शिवम दुबे (35) और यशस्वी जायसवाल (32) की उम्दा पारियों के बावजूद 4 विकेट पर 171 रन ही बना सकी। इसके जवाब में मुंबई इंडियन्स ने डिकॉक (50 गेंद में नाबाद 70, छह चौके, दो छक्के) और कृणाल पंड्या (39) के बीच तीसरे विकेट के लिए 63 रन की साझेदारी की बदौलत नौ गेंद शेष रहते तीन विकेट पर 172 रन बनाकर लक्ष्य हासिल किया।

मुंबई के छह मैचों में तीन जीत से छह अंक हो गए हैं और टीम चौथे स्थान पर बरकरार है। रॉयल्स की टीम छह मैचों में चार अंक के साथ सातवें स्थान पर है। लक्ष्य का पीछा करने उतरे गत चैंपियन मुंबई इंडियन्स को डिकॉक और कप्तान रोहित शर्मा (14) ने पहले विकेट के लिए 49 रन जोड़कर सतर्क शुरुआत दिलाई।

मुंबई की टीम पहले 2 ओवर में सात रन ही बना सकी जिसके बाद डिकॉक ने तीसरे ओवर में चेतन सकारिया पर पहला चौका जड़ा और फिर मुस्ताफिजुर रहमान की पहली दो गेंदों पर चौका और छक्का मारा।

रोहित ने जयदेव उनादकट पर छक्का मारा लेकिन क्रिस मौरिस की गेंद पर मिड आन पर सकारिया को आसान कैच दे बैठे। सूर्यकुमार यादव और डिकॉक ने इसके बाद पारी को आगे बढ़ाया। सूर्यकुमार ने राहुल तेवतिया जबकि डिकॉक ने उनादकट पर दो चौके मारे।

सूर्यकुमार हालांकि मौरिस की गेंद पर बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में मिडविकेट पर बटलर को कैच दे बैठे। उन्होंने 10 गेंद में 16 रन बनाए। मुंबई ने 10 ओवर में दो विकेट पर 87 रन बनाए।

डिकॉक ने 12वें ओवर में उनादकट की गेंद पर एक रन के साथ 35 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। इसी ओवर में टीम के रनों का शतक भी पूरा हुआ।

मुंबई इंडियन्स को अंतिम पांच ओवर में जीत के लिए 41 रन की दरकार थी। कृणाल ने मौरिस पर चौके और फिर मुस्ताफिजुर पर छक्के के साथ गेंद और रन के बीच के अंतर को कम किया। कृणाल हालांकि मुस्ताफिजुर की गेंद को विकेटों पर खेलकर पवेलियन लौटे। उन्होंने 26 गेंद का सामना करते हुए दो छक्के ओर दो चौके मारे।

कीरोन पोलार्ड (आठ गेंद में नाबाद 16, दो चौके, एक छक्का) ने 18वें ओवर में मौरिस की पहली दो गेंदों पर छक्का और चौका जड़ा जबकि तीसरी गेंद हेलमेट में लगकर चौके के लिए चली गई।

मुंबई को अंतिम दो ओवर में जीत के लिए सिर्फ नौ रन चाहिए थे और डिकॉक तथा पोलार्ड ने टीम को लक्ष्य तक पहुंचा दिया।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget