हवा के जरिए फैल रहा कोरोना

तीन देशों के एक्सपर्ट्स को मिले पुख्ता सबूत

crowd

नई दिल्ली

स्वास्थ्य पर रिसर्च करने वाले दुनिया के सबसे बड़े मेडिकल जर्नल लैंसेट ने कहा है कि कोरोना वायरस हवा से फैलता है। अपने सर्वे में जर्नल ने दावा किया है कि हवा से वायरस के फैलने के पुख्ता सबूत हैं। ब्रिटेन, अमेरिका और कनाडा के 6 एक्सपर्ट ने बताया कि हवा से वायरस फैलने की वजह से ही संक्रमण रोकने के लिए किए जा रहे उपाय काम नहीं कर रहे हैं और ये लोगों में फैल रहा है।

एक्सपर्ट ने कहा है कि बड़े ड्रॉपलेट्स से वायरस के सबसे ज्यादा फैलाव के सबूत नहीं मिले हैं। ऐसे में वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन और दूसरी हेल्थ एजेंसियां वायरस फैलने की बताई गई वजहों में बदलाव करें, ताकि संक्रमण को रोका जा सके।

सुपर स्प्रेडर इवेंट में मिले केस

एक्सपर्ट ने रिसर्च के रिव्यू के बाद हवा से फैलने के दावे को मजबूत करने वाले कुछ सबूत रखे हैं। इसमें टॉप पर सुपर स्प्रेडर इवेंट्स का जिक्र है। इनमें कागिट चोयर इवेंट के बारे में बताया गया है। इसमें एक ही संक्रमित से 53 लोगों में वायरस फैल गया। इवेंट की रिसर्च से साफ हुआ कि ये लोग एक-दूसरे के करीब नहीं गए और न मिले। इसके अलावा एक ही सतह को बार-बार छुआ भी नहीं। यानी हवा से ही इन लोगों में वायरस फैला।

इनडोर में ट्रांसमिशन ज्यादा

रिसर्च में बताया गया है कि खुली जगहों की बजाय बंद जगहों में संक्रमण ज्यादा तेजी से फैलता है। बंद जगहों को हवादार बनाकर संक्रमण के फैलाव को तेजी से कम किया जा सकता है।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget