सेक्यूलरिज्म-कम्यूनिज्म के इस खेल ने देश का बहुत नुकसान किया : मोदी

जब रैली में बिगड़ी कार्यकर्ता की तबीयत  नजर पड़ते ही PM ने भेज दी अपनी डॉक्टरों की टीम


नई दिल्ली

असम में दो चरणों के लिए वोटिंग हो चुकी है और तीसरे चरण के लिए चुनाव का प्रचार-प्रसार जोरों पर है। छह अप्रैल को होने वाले मतदान से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को तामुलपुर में एक जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान एक ऐसा वाकया देखने को मिला, जब पीएम मोदी को बीच में ही अपना भाषण रोकना पड़ा और अपनी मेडिकल टीम को तुरंत एक कार्यकर्ता की देखरेख के लिए भेजना पड़ा। 

दरअसल, पीएम मोदी जब तामुलपुर में भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे, तभी एक पार्टी कार्यकर्ता को पानी की कमी की वजह से कुछ तकलीफ हुई और वह बेहोश हो गया। इसके बाद जनसभा को संबोधित कर रहे पीएम मोदी की नजर उस कार्यकर्ता पर पड़ी और उन्होंने मंच से ही अपनी मेडिकल टीम को मदद करने को भेजा। 

मंच से मोदी ने कहा, 'ये जो पीएमओ की मेडिकल टीम है, वो जरा जाए वहां, एक कार्यकर्ता को पानी के अभाव में कुछ तकलीफ हुई है, तुरंत उनकी मदद कीजिए। मेरे साथ जो डॉक्टर आए हैं, वो जरा हमारे साथी की मदद करें। यहां का कोई अपना बंधु को पानी के अभाव में तकलीफ हुई है।' पीएम मोदी ने कहा कि मेरे राजनीतिक अनुभव के आधार पर, जनता के प्यार की भाषा, जनता के आशीर्वाद की ताकत पर मैं कहता हूं कि असम में एक बार फिर आप लोगों ने NDA सरकार बनाना तय कर लिया है। असम में हो रहा विकास यहां पर कनेक्टिविटी बढ़ा रहा है। असम में हो रहा विकास यहां पर लोगों का, महिलाओं का जीवन आसान बना रहा है। असम में हो रहा विकास, यहां पर नए अवसर बना रहा है, नौजवानों के लिए अवसर बढ़ा रहा है। 

हम जब भी कोई योजना बनाते हैं, तो सबके लिए बनाते हैं। हर क्षेत्र के लोगों को, हर वर्ग के लोगों तक, बिना भेदभाव, बिना पक्षपात, उस योजना का लाभ पहुंचाने के लिए हम कड़ी मेहनत करते हैं। देश में कुछ बातें ऐसी गलत चल रही हैं, अगर हम समाज में भेदभाव करके, समाज के टुकड़े करके अपने वोटबैंक के लिए कुछ दे दें, तो दुर्भाग्य देखिए, उसे देश में सेक्युलरिज्म कहा जाता है। लेकिन अगर सबके लिए काम करें, बिना भेदभाव के सबको देते हैं, तो कहते हैं कि ये कम्युनल हैं। सेक्यूलरिज्म-कम्यूनिज्म के इस खेल ने देश का बहुत नुकसान किया है। हम परिश्रम करने वाले लोग हैं, समाज की सेवा के लिए दिन-रात एक करने वाले लोग हैं, विकास के लिए ईमानदारी से काम करने वाले लोग हैं। असम के लोग आज देख रहे हैं कि सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास हमारी नीति में भी है और नीयत में भी है।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget