मुंबई-पंजाब की भिड़ंत आज


चेन्नई

मुंबई इंडियन्स अपने प्रदर्शन में निरंतरता हासिल करने के लिये बल्लेबाजी विभाग में सुधार करने के उद्देश्य से इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में शुक्रवार को यहां पंजाब किंग्स का सामना करेगा जिसकी टीम जीत की राह पर लौटने के लिये संघर्ष कर रही है।

रोहित शर्मा की अगुवाई वाली मुंबई की टीम ने बल्लेबाजों के लचर प्रदर्शन के कारण दिल्ली कैपिटल्स के​ खिलाफ पिछला मैच गंवा दिया था।वह उस हार को भुलाकर वापसी करना चाहेगी। कप्तान ने स्वयं अच्छी बल्लेबाजी की लेकिन अन्य बल्लेबाज नहीं चल पाये। मध्यक्रम का नहीं चल पाना टीम के लिये सबसे बड़ी चिंता है।

मुंबई के गेंदबाज अमूमन अच्छा प्रदर्शन करके टीम को जीत दिलाते रहे है, लेकिन दिल्ली के खिलाफ वे ऐसा नहीं कर पाये। वे बल्लेबाजों से बड़े स्कोर की उम्मीद कर रहे हैं, जिससे कि उनका काम आसान हो जाए।

रोहित दिल्ली के खिलाफ अच्छी लय में दिख रहे थे, लेकिन 2020 के सफल अभियान में अहम भूमिका निभाने वाले सूर्यकुमार यादव और इशान किशन मैच विजेता योगदान नहीं दे पा रहे हैं, जिससे मुंबई को नुकसान पहुंचा है। इसके अलावा कीरोन पोलार्ड और पंड्या बंधु हार्दिक और क्रुणाल भी अपेक्षित प्रदर्शन नहीं कर पाये हैं।

इस साल आईपीएल में अभी शुरुआती दौर चल रहा है लेकिन मुंबई इंडियन्स चाहेगा कि उसके खिलाड़ी पंजाब के खिलाफ फार्म हासिल करें।

पंजाब ने जीत से शुरुआत की थी, लेकिन इसके बाद से उसकी टीम जूझती रही है। बुधवार को सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ वह 120 रन ही बना पायी। केएल राहुल की अगुवाई वाली टीम अभी तक अदद संयोजन स्थापित करने में नाकाम रही है।

पंजाब की बल्लेबाजी मजबूत है लेकिन राहुल और मयंक अग्रवाल को छोड़कर कोई अन्य बल्लेबाज नहीं चल पा रहा है। उसके गेंदबाज भी अपेक्षित प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं।

'यूनिवर्स बॉस' क्रिस गेल का बल्ला कुंद पड़ रखा है जबकि वेस्टइंडीज के उनके साथी निकोलस पूरण भी नहीं चल पा रहे हैं।

लगातार तीन हार से पंजाब का मनोबल निश्चित तौर पर गिरा होगा। टीम को अब तुरंत ही इससे उबरना होगा नहीं तो प्लेआफ की उम्मीदें धूमिल पड़ती जाएगी।

राहुल ने अब तक चार मैचों में दो अर्धशतक लगाये हैं, लेकिन उन्हें दूसरे छोर से मदद नहीं मिल रही है। उनकी कप्तानी खिलाड़ि​यों को प्रेरित नहीं कर पा रही है तथा टीम चयन में उनकी अनुभवहीनता टीम को भारी पड़ रही है। 

दीपक हुड्डा ने अपनी आलराउंड क्षमता दिखायी है, लेकिन उन्हें अपने प्रदर्शन में निरंतरता लाने की जरूरत है। आस्ट्रेलिया के झॉय रिचर्डसन और रीले मेरेडिथ ने भी टीम को निराश किया है। पंजाब अब मुरूगन अश्विन की जग​ह रवि बिश्नोई को अंतिम एकादश में रख सकता है।

टीमें इस प्रकार हैं :

मुंबई इंडियंस: रोहित शर्मा (कप्तान), एडम मिल्ने, आदित्य तारे, अनमोलप्रीत सिंह, अनुकुल रॉय, अर्जुन तेंदुलकर, क्रिस लिन, धवल कुलकर्णी, हार्दिक पंड्या, इशान किशन, जेम्स नीशाम, जसप्रीत बुमराह, जयंत यादव, कीरोन पोलार्ड, क्रुणाल पंड्या, मार्कोन जेनसन, मोहसिन खान, नाथन कूल्टर नाइल, पीयूष चावला, क्विंटन ​डिकॉक, राहुल चाहर, सौरभ तिवारी, सूर्यकुमार यादव, ट्रेंट बोल्ट, यशवीर सिंह।

पंजाब किंग्स: केएल राहुल (कप्तान), मयंक अग्रवाल, क्रिस गेल, मनदीप सिंह, प्रबसिमरन सिंह, निकोलस पूरण, सरफराज खान, दीपक हुड्डा, मुरुगन अश्विन, रवि बिश्नोई, हरप्रीत बराड़, मोहम्मद शमी, अर्शदीप सिंह, इशान पोरेल, दर्शन नल्कंडे, क्रिस जॉर्डन, डाविड मलान, झॉय रिचर्डसन, शाहरुख खान, रिले मेरेडिथ, मोइजेस हेनरिक्स, जलज सक्सेना, उत्कर्ष सिंह, फैबियन एलन, सौरभ कुमार।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget