देशमुख के खिलाफ FIR दर्ज

100 करोड़ की वसूली का आरोप

anil deshmukh

मुंबई

सौ करोड़ रुपए की वसूली वाले आरोप पर CBI ने महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ FIR दर्ज कर ली है। केंद्रीय जांच एजेंसी ने देर रात मुंबई, नागपुर समेत राज्य में 12 ठिकानों पर छापेमारी भी की है। संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए CBI की टीम PPE किट पहनकर यह छापे मार रही है। एक टीम ने देशमुख के मुंबई स्थित सरकारी बंगले में घंटों छापेमारी की। जानकारी के मुताबिक, अनिल देशमुख फिलहाल नागपुर में हैं और वहां भी एक टीम ने उनसे पूछताछ की। CBI इससे पहले पूर्व गृह मंत्री से 11 घंटे की पूछताछ कर चुकी है।

केंद्रीय जांच एजेंसी इसी मामले में देशमुख के दो निजी सचिव, कुंदन शिंदे और संजीव पलांडे से 10 घंटे की पूछताछ कर चुकी है। इसके अलावा मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह, एंटीलिया केस में गिरफ्तार सचिन वझे से पूछताछ हुई है।

बॉम्बे हाईकोर्ट ने मुंबई की वकील जयश्री पाटिल की याचिका पर CBI को आरोपों की जांच करके 15 दिन में रिपोर्ट पेश करने का आदेश दिया है। हालांकि, CBI ने कोविड का हवाला देते हुए रिपोर्ट नहीं पेश की, लेकिन अब केस दर्ज कर लिया है। अदालत ने अपने आदेश में 15 दिनों के दौरान कोई भी केस  दर्ज नहीं करने की बात कही थी।

हाईकोर्ट ने कहा था कि CBI को तुरंत FIR दर्ज करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि महाराष्ट्र सरकार ने इस मामले की जांच के लिए पहले ही एक हाई लेवल कमेटी बना दी है। इस बीच देशमुख ने कहा है कि वह सीबीआई की पूरी मदद कर रहे हैं।

कोई भी कानून से ऊपर नहीं है: संजय राउत

शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा-हाईकोर्ट के आर्डर पर CBI जांच कर रही है और कानून से ऊपर कोई नहीं है। मेरे हिसाब से इस कार्रवाई पर किसी भी प्रकार का मत व्यक्त करना उचित नहीं है। अनिल देशमुख ने अपनी सफाई CBI के सामने रख दी है। CBI को अपनी प्राथमिक रिपोर्ट अदालत में पेश करनी है, इसके बाद हम देखेंगे कि इस पर क्या करना है। CBI अपना काम कर रही है, हाईकोर्ट अपना काम कर चुकी है और महाविकास अघाड़ी अपना काम करेगी।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget