PM मोदी की अपील का असर : कुंभ का समापन!

kumbh mela

हरिद्वार

देश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच हरिद्वार कुंभ को लेकर प्रधानमंत्री की अपील का असर हो गया है। पीएम नरेंद्र मोदी के बातचीत के बाद शनिवार शाम आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि ने जूना अखाड़ा की तरफ से कुंभ के विधिवत समापन की घोषणा कर दी। अवधेशानंद गिरि ने ट्वीट कर कहा कि भारत की जनता और उसकी जीवन रक्षा हमारी पहली प्राथमिकता है। कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए हमने विधिवत कुंभ के आवाहित सभी देवताओं का विसर्जन कर दिया है। जूना अखाड़ा की ओर से यह कुंभ का विधिवत विसर्जन-समापन है।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार सुबह फोन पर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि से बातचीत कर संतों का हालचाल जाना। पीएम ने खुद ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी। पीएम मोदी ने कहा, आचार्य महामंडलेश्वर पूज्य स्वामी अवधेशानंद गिरि जी से आज फोन पर बात की। सभी संतों के स्वास्थ्य का हाल जाना। सभी संतगण प्रशासन को हर प्रकार का सहयोग कर रहे हैं। मैंने इसके लिए संत जगत का आभार व्यक्त किया।

दो अखाड़े कर चुके हैं कुंभ समाप्ति का ऐलान

कुल 13 अखाड़ों में से निरंजनी अखाड़ा और आनंद अखाड़ा कुंभ मेला समाप्ति का ऐलान कर चुके हैं। दोनों ने 17 अप्रैल को कुंभ मेला खत्म होने का ऐलान किया है। वैसे भी अधिकांश प्रमुख स्नान हो चुके हैं और शेष स्नान पूर्व में भी प्रतीकात्मक ही होते रहे हैं। बैरागी अखाड़ों के स्नान होने हैं और वे उनका सम्मान भी करते हैं लेकिन उनसे भी कोरोना संक्रमण को देखते हुए अपील की गयी है।

कई साधु संत कोरोना की चपेट में आए

हरिद्वार के अलग-अलग अखाडों के कई साधु-संत भी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं जिनमें अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष और निरंजनी अखाड़े के महंत नरेंद्र गिरि भी शामिल हैं। मध्य प्रदेश से आए निर्वाणी अखाड़े के महामंडलेश्वर कपिल देव की कोरोना की वजह से 13 अप्रैल को मौत हो चुकी है। 


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget