100 शिक्षकों पर लटकी बर्खास्तगी की तलवार

प्रमाणपत्र एवं नियुक्ति पत्र जमा नहीं करने का है आरोप

बेगुसराय

डीपीओ स्थापना ने बीईओ के प्रतिवेदन के आधार पर प्रखण्ड के करीब 100 शिक्षकों की सूची जारी की है। उन पर निगरानी विभाग को अपना प्रमाणपत्र एवं नियुक्ति पत्र जमा नहीं करने का आरोप है। इससे उनके गलत प्रमाणपत्रों के आधार पर नियुक्ति की आशंका है। इससे उनकी सेवा पर भी बर्खास्तगी की तलवार लटक गई है। ये सभी शिक्षक पंचायती राज संस्थाओं एवं नगर निकाय संस्थाओं द्वारा वर्ष 2006 एवं 2015 के बीच नियुक्त किए गए थे। इससे उनके प्रमाणपत्रों के जाली होने की आशंका है। डीपीओ के इस आदेश से संबंधित शिक्षकों में खलबली मची हुई है। संबंधित शिक्षकों का कहना है कि उनका प्रमाणपत्र पंचायत सचिव के पास जमा है, इसलिए उसे जमा करने की जवाबदेही उन पर है। इससे पूर्व प्रखण्ड की विभिन्न पंचायतों के 13 शिक्षकों को फर्जीवाड़ा के मामले में बर्खास्त कर दिया गया है। डीपीओ स्थापना द्वारा जिन शिक्षकों की सूची प्रकाशित की गई है। उनमें अधिकतर अब तेघड़ा नगर परिषद क्षेत्र में है। उक्त पंचायतों को विघटित कर नगर पंचायत से अब नगर परिषद में उत्क्रमित कर दिया गया है। डीपीओ की सूची में गौड़ा 3,4,5,6 एवं चकदाद मधुरापुर पंचायत तेघड़ा नगर परिषद में है। इसके अलावा धनकौल तथा फुलवरिया-1 पंचायत के शिक्षकों का नाम शामिल है। ये शिक्षक मध्य विद्यालय दनियालपुर एवं दनियालपुर भाग 2, हसनपुर, ढांगर टोला, अम्बेदकर हरिहरपुर, मध्य विद्यालय अयोध्या, पैगम्बरपुर, तेघड़ा बाजार आदि विद्यालयों में कार्यरत हैं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget