11 करोड़ 44 लाख जुर्माना देकर भी दिल्ली वाले लापरवाह

25 दिन में 5000 एफआईआर, 4500 से ज्यादा गिरफ्तार

delhi police

नई दिल्ली

 विश्व स्वास्थ्य संगठन से लेकर दुनिया भर के देशों की सरकारें चीख रही हैं कि मौजूदा हालातों में कोरोना से बचाव की दवाई दुनिया में नहीं है। इससे जिंदगी महफूज रखने का एकमात्र रामबाण उपाय सिर्फ और सिर्फ एहतियात है। एहतियात में भी सोशल डिस्टेंसिंग मास्क इत्यादि को सर्वोपरि बताया जा रहा है। इसके बाद भी राजधानी दिल्ली में रहने वाले ऐसे लापरवाह लोगों की बहुतायत देखने को मिल रही है, जो अपनी जान तो जोखिम में डाल ही रहे हैं, कोरोना की चपेट में दूसरों को भी लाने से बाज नहीं आ रहे है। दिल्ली पुलिस मुख्यालय से हासिल आंकड़ों के अनुसार 19 अप्रैल से लेकर 13 मई तक के तकरीबन 24-25 दिन में अलग-अलग इलाकों में पुलिस ने 5174 मुकदमे दर्ज की है। इन मुकदमों में 4536 लोगों को गिरफ्तार किया गया। इसी तरह इस दिल्ली पुलिस ने दो लाख चार हजार 673 लोगों के खिलाफ एक्शन लिया जबकि 14446 लोगों के खिलाफ कड़े कदम उठाए गए। आईपीसी की धारा-188 के तहत छह हजार 125 लापरवाह लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई। दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता और डीसीपी चिन्मय बिस्वाल के अनुसार कोरोना को मजाक समझ कर तमाम बेकसूर लोगों की जान जोखिम में डालने वालों पर जुर्माना भी ठोंका गया। दिल्ली पुलिस ने इन 25 दिनों में 11 करोड़ 44 लाख 83 हजार 832 रुपए वसूले है। दिल्ली पुलिस ने मास्क न लगाने वाले 51 हजार 878 ऐसे लोगों के खिलाफ कानूनी कदम उठाए गए जिन्होंने मास्क नहीं पहने थे।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget