90 हजार आव्रजकों को स्थाई निवासी बनाएगा कनाडा

भारतीयों को होगा लाभ

marco mendicino

टोरंटो

कनाडा में बुधवार से शुरू हो रहे नए आव्रजन कार्यक्रम से भारतीय छात्रों को बहुत फायदा होने वाला है। इस आव्रजन कार्यक्रम के तहत कनाडा में पहले से रह रहे 90 हजार से अधिक अंतरराष्ट्रीय छात्रों और अस्थाई आवश्यक कर्मचारियों को स्थाई निवासी (पीआर) का दर्जा दिया जाएगा। इसके तहत 40 हजार अंतरराष्ट्रीय छात्रों, 30 हजार अस्थाई कर्मचारियों और स्वास्थ्य क्षेत्र के 20 हजार अस्थाई कर्मचारियों को स्थाई निवासी का दर्जा देने के लिए चयनित किया जाएगा।

कनाडा में अंतरराष्ट्रीय छात्रों (जिनमें भारतीयों की बहुतायत है) को स्थायी निवासी की मान्यता मिलेगी जो पिछले चार सालों में इसी देश में पोस्ट सेकेंड्री प्रोग्राम पूरा कर चुके हैं। विदेशी कर्मचारियों को स्वास्थ्य क्षेत्र या अन्य आवश्यक कार्यों में कनाडा में कम से कम एक साल का कार्य करने का अनुभव होना चाहिए। कनाडा में ऐसे भारतीय आव्रजकों की तादाद 2020 में 2,20,000 थी। यह तादाद कनाडा में सभी विदेशी छात्रों की कुल संख्या का एक-तिहाई से अधिक है। इस वैश्विक महामारी के चलते अंतरराष्ट्रीय उड़ानें ठप होने से पहले कनाडा ने 2020 में 3,41,000 आव्रजकों का चयन करने का मन बनाया था। इस साल कनाडा ने चार लाख एक हजार आव्रजकों को स्थाई निवासी का दर्जा देने का फैसला किया है।

 कनाडा के आव्रजन मंत्री मार्को मेंडिसिनो ने कहा कि वैश्विक महामारी के कारण आवश्यक सेवाओं में नए लोगों का रास्ता बनने की नई किरण है। हम आर्थिक सुधार में इन लोगों की भूमिका की अहमियत को समझते हैं। इससे इन लोगों को कनाडा में अपनी जड़ें जमाने का मौका मिलेगा और कनाडा को भी उभरने में मदद मिलेगी। 

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget