पीएम ने सुनी कोरोना मुक्त हुए गांव की यशकथा

अहमदनगर जिले के कोरोना रोकथाम उपायों पर लिया संज्ञान


मुंबई 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से 11 राज्यों के 60 जिला अधिकारियों से बातचीत की। इस दौरान पीएम ने अहमदनगर जिले के हिवरेबाजार गांव में कोरोना रोकथाम कार्य के प्रति संज्ञान लिया। जिलाधिकारी डॉ. राजेंद्र भोसले ने प्रधानमंत्री के समक्ष गांव को कोरोना मुक्त करने का पूरा ब्यौरा रखा।

हिवरेबाजार गांव को कोरोना मुक्त करने के लिए स्वास्थ्य और स्वयंसेवकों की 4 टीमें गठित की गईं और हर घर का सर्वे किया गया। टीम ने कोरोना के लक्षणों वाले हर मरीज के घर और परिवार की जिम्मेदारी लेते हुए मरीजों को आइसोलेशन कक्ष में भर्ती करने के लिए प्रोत्साहित किया, ताकि मरीजों को यह चिंता न करनी पड़े कि उनके घर और परिवार, खेती और डेयरी के काम का क्या होगा, जो लोग शुरू में आइसोलेशन और उपचार के विरोध में थे, बाद में वे भी इसके लिए तैयार हो गए। इससे हिवरेबाजार का कोरोना मुक्ति का सफर आसान हो गया और गांव बेहद कम समय में कोरोना मुक्त हो गया। राजेंद्र भोसले ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बताया कि हिवरेबाजार कोरोना मुक्ति का यह पैटर्न पद्मश्री पोपटराव पवार के मार्गदर्शन में जिले की 1316 ग्राम पंचायतों में लागू किया जा रहा है। वीडियो कांफ्रेंस में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे, मुख्य सचिव सीताराम कुंटे आदि शामिल हुए। 

कलेक्टर भोसले ने कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में राज्य में लागू मेरा परिवार-मेरी जवाबदारी अभियान से काफी मदद मिली। इस अभियान के तहत जिले के हर घर तक प्रशासन पहुंचा। इससे संभावित मरीजों को ठीक समय पर इलाज हो सका।    

मुख्यमंत्री ने दी भोसले को बधाई

जिला अधिकारी डॉ. राजेंद्र भोसले के कोरोना रोकथाम के कार्यों पर प्रधानमंत्री ने खुद संज्ञान लिया। इसके लिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने टेलिफोन पर डॉ. भोसले को बधाई दी और उनसे इस सराहनीय कार्य को आगे भी जारी रहने की अपील की।

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने की मुंबई की तारीफ

बैठक के दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने देशभर में कोविड की स्थिति और इसके उपायों पर विस्तृत प्रस्तुति दी। 

उन्होंने बेहतर ऑक्सीजन प्रबंधन और कोरोना नियंत्रण के लिए मुंबई में किए गए प्रयासों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन का भंडारण करते समय अधिकारियों के नाम और संपर्क नंबरों का खुलासा करते हुए मुंबई में ऑक्सीजन की उपलब्धता और वितरण को बेहतर ढंग से प्रबंध किया गया।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget