तीसरी लहर से पूर्व बच्चों के लिए बने कोविड अस्पताल


मुंबई

कोरोना की संभावित तीसरी लहर को लेकर चिंता जताई जा रही है। तीसरी लहर में बच्चों के अधिक प्रभावित होने की संभावना व्यक्त की जा रही है। भाजपा मनपा प्रवक्ता भालचंद्र शिरसाट ने मुंबई में बच्चों के लिए कोविड अस्पताल बनाने की मांग की है। भालचंद्र शिरसाट ने मनपा आयुक्त इकबाल सिंह चहल को पत्र लिखकर कहा है कि स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जो जानकारियां सामने आ रही है उसके मुताबिक कोरोना की तीसरी  लहर आना स्वाभाविक है। कोरोना की शुरुआत में वरिष्ठ नागरिकों के लिए परेशानी हुई थी जबकि दूसरी लहर में युवाओं के लिए परेशानी उत्पन्न हुई। इसमें सबसे अधिक 30 से 45 साल के लोगों  को अपनी चपेट में लिया। अब तीसरी लहर में बच्चों पर अधिक प्रभाव पड़ने का अनुमान लगाया जा रहा है। शिरसाट ने कहा कि बच्चों को अधिक समझ नहीं रहती, उन्हें क्वारंटाईन सेंटर में भी अकेले नहीं रखा जा सकता है। कोविड सेंटर में डॉक्टर एवं नर्स के हर समय उपलब्ध होने से बच्चों में किसी तरह की परेशानी होने पर उनकी तत्काल देखभाल हो सकेगी। कोविड सेंटर में बच्चों के साथ उनके अभिभावक के भी रहने की व्यवस्था की जानी चाहिए। 

इतना ही नहीं बच्चों के खेलने से लेकर पशु पक्षियों का चित्र, वीडियो गेम और गाने आदि की भी व्यवस्था की जानी चाहिए जिससे उनका का मन कोविड अस्पताल में लगा रहे। पुणे मनपा ने इस तरह का  कोविड सेंटर बनाया हुआ है। उसी तर्ज़ पर मुंबई में भी बच्चों के लिए कोविड अस्पताल बनाने की जरूरत है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget