दो गांवों के पुनर्वसन का प्रस्ताव मंजूर


मुंबई

राज्य में पिछले कुछ महीनों से वन प्राणियों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है, इसमे वाघ भी शामिल है। राज्य में मौजूदा समय में वाघों की संख्या 312 हो गई है। ऐसे उनके रहने के लिए वन क्षेत्रों को बढ़ाने की अत्यंत आवश्यकता है। मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में  हुई वन विभाग की बैठक सीएम ने यह बात कही,उन्होंने कहा कि राज्य की अन्य जिलों की तुलना में चंद्रपुर जिले में बाघों की संख्या अधिक है। उस परिसर में मानव-वन्यजीव संघर्ष की घटनाओं में भी वृद्धि हुई है। इसी के मद्देनज़र वन्यजीवों का अधिवास सुधारने की दृष्टि से ताडोबा वाघ परियोजना के भीतर के रातनलोधी  व कोयला एवं परियोजना के बाहरी गांव के पुनर्वसन का प्रस्ताव जल्द से जल्द प्रस्तुत करने के निर्देश मुख्यमंत्री ने दिया। सीएम ठाकरे ने कहा कि राज्य के वाघों की संख्या और भी बढ़ सकती है, इस बात को  मानते हुए अभी से ही इस पर, उपाय योजना करना जरूरी है, ताकि  आगे हम उनके बीच के संघर्ष को रोक सके। इसके लिए वन क्षेत्रों को बढ़ाने और उसके नजदीक बसे गांवों का पुनर्वसन की जाए। ठाकरे ने कहा कि पर्यटकों को आकर्षित कर सके ऐसे स्थानों का चयन कर उसमें नैसर्गिक एवं उसकी सुंदरता बढ़ सकेगी ऐसे स्थलों का विकास करें। साथ ही जंगलों का अनुभव भी उस स्थल पर होना चाहिए, राज्य में खुले कुएं में बाघ एवं अन्य प्राणी गिरने से उनकी मृत्यु होने की घटनाएँ पिछले कुछ समय में हुई है। इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए उस क्षेत्र तथा उस परिसर के कुओं को संरक्षण दीवार लगाना एवं अन्य  उपाययोजना करने के निर्देश  मुख्यमंत्री ने दिया। बैठक में पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा कि ताडोबा वाघ  प्रकल्प का क्षेत्र बढ़ाने की आवश्यकता है। साथ ही पिछले कुछ दिनों में नए से घोषित तीन संवर्धन आरक्षित क्षेत्र की अधिसूचना आना भी अभी बाकी है। इसलिए इसके लिए पहल करें और अधिसूचना निकालें। कुएं में गिरकर बाघों के मृत्यु होने की घटनाओं को रोकने के लिए उपाययोजना करने की सूचना भी उन्होंने इस दौरान की। इस बैठक में उद्योग मंत्री सुभाष देसाई, पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे, वन राज्यमंत्री दत्तात्रय भरणे, मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव आशिष कुमार सिंह, वन विभाग के प्रधान सचिव मिलिंद म्हैसकर, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव विकास खारगे, पर्यावरण विभाग की प्रधान सचिव मनीषा म्हैसकर, मुख्यमंत्री के सचिव आबासाहेब आदि संबंधित लोग उपस्थित थे।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget