तौकते चक्रवात से मुंबई का जनजीवन अस्त-व्यस्त

cyclone effects

मुंबई

तौकते चक्रवात का असर रविवार रात से जो शुरू हुआ तो सोमवार दिन भर जारी रहा। सुबह से ही मुंबई में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश के चलते मुंबई के कई इलाकों में पानी भर गया। लगभग 114 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चली हवाओं के कारण कई जगहों पर पेड़ एवं टहनियां सहित विज्ञापन के होर्डिंग भी गिर गए। हालांकि इन घटनाओं में किसी के हताहत होने की खबर नही है। मनपा के आंकड़ों के अनुसार मुंबई में 300 से अधिक जगहों पर पेड़ गिरे। भारी बारिश के चलते अंधेरी, मालाड सबवे वाहनों एवं पैदल चलने वालों के लिए बंद करना पड़ा। बांद्रा सीलिंक को भी सुबह 10 बजे के बाद एहतियात बरतते हुए पूरी तरह बंद कर दिया गया। मुंबई एअरपोर्ट को भी सुबह कुछ घंटे के लिए बंद किया गया था लेकिन तेज बारिश शाम तक जारी रहने के कारण एअरपोर्ट शाम छह बजे तक बंद कर दिया गया। कुछ हवाई जहाजों को एअरपोर्ट पर उतरने ही नही दिया गया बल्कि उन्हें दुसरे एअरपोर्ट पर भेजा गया. साथ ही कुछ जहाजों को वापस लौटा दिया गया। सड़कों पर जगह-जगह पानी भरने से मनपा द्वारा 75 प्रतिशत नाला सफाई होने के दावे की भी पोल खोल कर रख दी।

इन इलाकों में भरा पानी

मुंबई के पैडर रोड, गेटवे, सायन रोड नंबर 24, प्रतीक्षा नगर, बांद्रा नेशनल कॉलेज परिसर, हाजीआली, मंत्रालय, अंधेरी सबवे, मालाड सबवे, परेल, वडाला, दादर स्टेशन सहित मुंबई के कई इलाकों में पानी भर गया। पानी भरने से लोगो को आने जाने की भी परेशानिया झेलनी पड़ी। भारी बारिश और तेज हवाओं के कारण घाटकोपर और विक्रोली के बीच सुबह करीब 12 बजे के दरम्यान पेड़ की टहनी लोकल के ओहरहेड वायर पर गिर गया। टहनी गिरने से ओवरहेड वायर में शार्ट शर्किट हुई जिससे लोकल सेवा पर असर पड़ा। थाने की ओर जाने वाली धीमी लोकल सेवा कुछ घंटों के लिए ठप पड़ी। रेलवे कर्मचारीयो ने आनन फानन में पेड़ की टहनी को हटाकर रेलवे सेवा को पूर्ववत  की गई।

रेल पटरियों पर भरा पानी

भारी बारिश के चलते भायखला स्टेशन के पास रेल पटरियों पर पानी भर गया. इसी तरह हार्बर लाइन पर तिलक नगर के पास भी ट्रैक पर पानी भर गया। तिलक नगर के पास पानी भरने की आशंका भाजपा नगरसेवक हरीश भंदिरगे ने पहले ही जताई थी, उन्होंने मनपा आयुक्त को और स्थाई समिति में भी जानकारी दी थी. नालों की सफाई नहीं होने से नुकसान उठाना पड़ सकता है जिसका नजारा सोमवार को दिखाई दे दिया।

सड़क पर आया समुद्र का पानी

गेटवे ऑफ इंडिया के पास समुद्र में बेस्ट को बदलना पड़ा मार्ग

तेज हवाओं के साथ हो रही भारी बारिश के कारण जगह जगह पानी भर गया। 

पानी भरने कारण वाहनों को नुकसान न हो और लोगो को तकलीफ का सामना न करना पड़े इसके लिए परेल, दादर, सायन आदि इलाकों में बेस्ट बसों के मार्ग को बदलकर यात्रियो को उनके गंतव्य तक पहुचाया गया।

तीन जंबो कोविड सेंटर हुए बंद

मनपा प्रशासन ने कोरोना मरीजों के इलाज को लेकर बनाए गए तीन जंबो कोविड सेंटर, जो कि खुले मैदान में थे, को एहतियात के तौर पर बंद कर दिया था। इन जंबो कोविड सेंटर में भर्ती 580 मरीजों को दुसरे अस्प्ताल में भर्ती कराया गया। 

479 स्थानों पर गिरे पेड़

तेज हवा एवं बारिश के कारण मुंबई में कुल 479 स्थानों पर पेड़ गिरे। बीएमसी के अनुसार मुंबई शहर में 156 स्थानों पर पेड़ गिरने की शिकायत मिली। 

पूर्वी उपनगर में 78 स्थानों से एवं पश्चिम उपनगर में 243 स्थानों पर पेड़ गिरने की शिकायत लोगों ने बीएमसी से की। मुंबई में इस दौरान कुल 17 शॉर्ट सर्किट की भी शिकायत आई। इसमें से शहर में 6 स्थानों, पूर्वी उपनगर से 2 एव पश्चिम उपनगर में 9 शॉर्टसर्किट की घटनाएं सामने आईं।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget