अब ग्रामीण क्षेत्रों के सीएचसी अस्पतालों में एल वन प्लस की सुविधा

लखनऊ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना पर लगाम लगाने के लिए आला अधिकारियों को सुविधाओं को बढ़ाने के आदेश दिए हैं। उन्होंने गांवों में हेल्थ सेक्टर को और भी मजबूत करते हुए कोरोना काल में सीएचसी अस्पतालों को एल वन प्लस में तब्दील करने के आदेश दिए हैं। ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर से लैस इन अस्पतालों में सुविधाओं के विस्तार से लोगों को सीधे तौर पर राहत मिलेगी। उत्तर प्रदेश के प्रत्येक जनपदों के चार सीएचसी अस्पतालों को एल वन प्लस में तब्दील किया जा रहा है। जिसमें 50-50 बेड की सुविधा, ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर  और डॉक्टरों की विशेष टीम मरीजों की 24 घंटे निगरानी करेगी। 

ग्रामीण क्षेत्रों में नहीं होगा ऑक्सीजन का संकट

गांवों में लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने के लिए योगी सरकार प्रतिबद्ध है। कोरोना संकट को देखते हुए गांवों में ऑक्सीजन और बेड की किल्लत से लोगों को जूझना न पड़े इसलिए सीएम योगी ने प्रदेश के प्रत्येक जनपदों के सीएचसी अस्पतालों में चार-चार एल वन प्लस सुविधाओं से लैस करने का आदेश दिया है। जहां आधुनिक ऑक्सीजन मशीनें होंगी। बता दें कि शहरी क्षेत्रों में जहां आइसोलेशन वार्ड को  एल वन अस्पताल कहा जाता है जिसमें हल्के लक्षण वाले मरीजों को केवल बेड, उपचार और डॉ की निगरानी में उसकी देख रेख की जाती है। ग्रामीण क्षेत्रों में इस सुविधा को बढ़ाते हुए बेड के साथ ऑक्सीजन की सुविधा भी दी जाएगी। 

17000 ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर का दिया गया ऑर्डर

महानिदेशक डीएस नेगी ने बताया कि प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में ऑक्सीजन के लिए सीएम योगी के निर्देशानुसार 17000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के ऑर्डर दिए गए हैं जो जल्द से जल्द मिल जाएंगे।

यूपी मॉडल को केंद्र सरकार ने किया लागू 

ऑक्सीजन आपूर्ति को लेकर प्रदेश सरकार की ओर से लागू किए गए मॉडल को केंद्र सरकार ने भी अपनाया है। इस बारे में सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने अनिवार्य रूप से ऑक्सीजन कंटेनर्स, टैंकर्स और अन्य वाहनों में वेहिकल लोकेशन ट्रैकिंग डिवाइस लगाने के आदेश दिए हैं। इन टैंकर्स की जीपीएस के माध्यम से उचित निगरानी और सुरक्षा सुनिश्चित की जाएगी। साथ ही यह भी देखा जाएगा कि कोई डायवर्जन या विलंब तो नहीं हो रहा है। मुख्यमंत्री योगी ने ऑक्सीजन की उपयोगिता बढ़ने पर तकनीकी सहयोग लेने का आदेश दिया था, जिसके बाद अप्रैल के मध्य में ही सीएम योगी ने ‘ऑक्सीजन मॉनिटरिंग सिस्टम फॉर यूपी’ नामक डिजीटल प्लेटफॉर्म का उद्घाटन किया। यह प्लेटफॉर्म प्रदेश के खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन, चिकित्सा शिक्षा विभाग, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, परिवहन और गृह विभाग के सहयोग से तैयार किया है। इस तकनीकी का यह लाभ हुआ कि पोर्टल पर ऑक्सीजन आपूर्ति में लगे वाहनों की ऑनलाइन उपस्थिति को ट्रैक करते हुए वाहन को नजदीकी अस्पताल के लिए रवाना किया जाने लगा, इससे एक ओर संबंधित अस्पताल में ऑक्सीजन की मांग समय से पूरी हुई और संबंधित वाहन के पहुंचने में लगने वाले समय की भी बचत हुई। इन प्रयासों से प्रदेश में रोजाना आमतौर पर 350 मीट्रिक टन होने वाली ऑक्सीजन आपूर्ति बढ़कर 1050 मीट्रिक टन तक पहुंच गई है। 

यूपी मॉडल को अन्य राज्यों ने भी किया लागू

देश के दूसरे राज्यों को भी यूपी मॉडल की जब जानकारी हुई, तो उन्होंने राज्य सरकार से संपर्क साधा। बिहार, पंजाब, तमिलनाडु, महाराष्ट्र आदि ने गहरी रुचि भी दिखाई। उत्तर प्रदेश ऑक्सीजन ट्रैकिंग सिस्टम को लागू करने वाला देश का पहला राज्य है। कंसल्टेंटमनीष त्यागी बताते हैं कि बिहार ने हमने इस सिस्टम को लागू कर दिया है। मध्य प्रदेश में भी बातचीत अंतिम दौर में है। 

कोरोना के खिलाफ सीएम योगी का 'ट्रिपल टी' फार्मूला कामयाब 

कोरोना को रोकने का सीएम योगी का ट्रिपल टी फार्मूला रंग लाया। ट्रेस, टेस्‍ट और ट्रीट के मूल मंत्र से यूपी ने कोरोना की रफ्तार पर लगाम लगा दी है। प्रदेश में ठीक होने वालों की संख्‍या और कोविड के मामलों के लगातार घटते आंकड़े इसके गवाह हैं। कोरोना की रफ्तार पर लगाम लगाने में टेस्टिंग की भूमिका सबसे अहम रही। पिछले 24 घंटे के भीतर प्रदेश सरकार ने 2.53 लाख कोविड टेस्‍ट किए। ग्रामीण इलाकों में 1.40 लाख एंटीजन टेस्‍ट किए गए हैं। 

गांव से शहर तक बड़ा अभियान

योगी सरकार की ओर से गांव से लेकर शहर तक महामारी से बचाव के किये गये पुख्ता इंतजामों का असर है कि कोरोना को मात देने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। एक्टिव केसों में भी कमी आ रही है। अन्य राज्यों से मंगाई जा रही ऑक्सीजन से रोगियों को समय पर बचाया जाना संभव हुआ है। कोविड चिकित्सालयों में चिकित्सा कर्मियों, औषधियों, मेडिकल उपकरणों तथा बैकअप सहित ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता बनाये रखने का निर्णय भी कारगार साबित हुआ है। 

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget