लॉकडाउन की उड़ी धज्जियां, शादी समारोह में फायरिंग

वैशाली

बिहार में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए नीतीश सरकार ने पांच मई से लेकर 15 मई तक लॉकडाउन लगाया है। इसका असर भी देखने को मिलने लगा है। लॉकडाउन के बाद से राज्य में संक्रमण की रफ्तार में कुछ कमी देखी गई है। इस बीच वैशाली जिले से एक बेहद डराने वाला वीडियो सामने आया है, जिसे देखकर कहा जा सकता है कि अभी भी कुछ लोग ऐसे हैं जिन्हें ना तो सरकार द्वारा लगाए गए लॉकडाउन की फिक्र है और ना ही इस जानलेवा वायरस का डर।  समस्तीपुर के धमौन से राघोपुर के शिवनगर लंका टोला में आई बारात में जमकर फायरिंग हुई। इस दौरान बारात में शामिल लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग को दरकिनार कर जमकर डांस किया। वीडियो में देखा जा सकता है कि बारात में शामिल लोगों ने मास्क नहीं लगाया है। शादी में डांस कर रहे लोगों को देखकर ऐसा लगता है कि इन्हें सोशल डिस्टेंसिंग क्या होती है, उसके बारे में पता भी नहीं है। वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस जांच में जुट गई है। 

लॉकडाउन का असर, पटना में अब कम होने लगा वायरस का प्रकोप

पटनावासियों के लिए राहत भरी खबर है। जिले में कोरोना वायरस का प्रकोप धीरे-धीरे कम होने लगा है। जिला प्रशासन का कहना है कि पिछले तीन दिनों से संक्रमण की दर कम हो रही है। दूसरी लहर में जिले में 26 अप्रैल को सबसे ज्यादा संक्रमण दर थी। तब संक्रमण की दर 39.5 फीसदी तक पहुंच गई थी। यही वह समय था, जब पटना के अस्पतालों में बेड के लिए मारामारी मची थी। छह मई को यह दर घटकर 11.4 फीसदी रह गई है। 

लोगों की लापरवाही पड़ सकती है भारी 

स्वास्थ्य विभाग के विशेषज्ञों का कहना है कि सामान्य तौर पर वायरस की प्रकृति ऐसी नहीं होती है कि अचानक बीमारी का प्रकोप 

घटने लगे। 

ऐसे भी कोरोना वायरस के कई वैरिएंट आने के बाद आकलन करना बड़ा मुश्किल हो गया है। इसलिए विशेषज्ञों का कहना है कि यदि संक्रमण का प्रकोप कम होता है फिर भी लोगों को लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget