पैसे लेकर कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट देने वाले गिरफ्तार

ठाणे

पुलिस ने पैसे लेकर कोरोना के जांच की रिपोर्ट निगेटिव देने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपी सरकारी अस्पताल की रिपोर्ट देते थे। जिससे किसी को इसपर कोई संदेह न हो। मामले में एफआईआर दर्ज की गई है, जिसकी अधिक जांच जारी है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक आरोपी बिना किसी जांच के 1250 रुपए लेकर लोगों को महानगर पालिका के वाडिया अस्पताल से फर्जी आरटी-पीसीआर निगेटिव रिपोर्ट बनाकर लोगों को देते थे। दोनों आरोपियों को ठाणे पुलिस की अपराध शाखा ने गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपी ठाणे मनपा के कोविड अस्पताल में वार्ड ब्वाय के तौर पर ठेके पर नियुक्त किए गए थे। गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने आरोपियों को फर्जी ग्राहक भेजकर जाल बिछाकर दबोचा। गिरफ्तार आरोपियों के नाम अफसर तेजपाल मंगवाना और धवने सकपाल है।

मरे हुए व्यक्ति की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव

पुलिस को जानकारी मिली थी कि आरोपी केवल आधार कार्ड लेकर आरटी पीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट देते थे, जिसके बाद मेरे हुए व्यक्ति का आधार कार्ड आरटी पीसीआर निगेटिव के लिए दिया गया। आरोपी ने निगेटिव रिपोर्ट भी बनाकर इन्हें दे दी। पुलिस के मुताबिक आरोपी जांच के नाम पर आधार कार्ड के साथ जो स्टिक भेजते थे ,उसमें किसी तरह के स्वैब का सैंपल नहीं लिया जाता था। स्वैब का नमूना न होने के चलते जांच में रिपोर्ट निगेटिव आती थी। यह निगेटिव रिपोर्ट लोगों को देकर आरोपी उनसे एक से डेढ़ हजार रुपए तक वसूलते थे। आरोपियों के खिलाफ ठाणे के नगर पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 420 और 34 के तहत ठगी के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है। पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आरोपी इसप्रकार से कितने लोगों के साथ कर चुके हैं। हालांकि मामले की जांच जारी है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget