आघाड़ी नेताओं को पाटिल की चुनौती

तीनों पार्टियां अलग -अलग लड़कर दिखाएं चुनाव

chandrakant patil

मुंबई

बीते रविवार को पश्चिम बंगाल सहित पांच राज्यों के आए चुनाव नतीजें राज्य में चर्चा का विषय बन गया है। पश्चिम बंगाल में जहां ममता बनर्जी को मिली भारी जीत को लेकर राज्य की सत्ताधारी पार्टियां भाजपा पर निशाना साध रही हैं, वहीं दूसरी तरफ पंढरपुर -मंगलवेढा विधानसभा के उपचुनाव में भाजपा को मिली जीत पर विपक्षी दल भाजपा ने सत्ताधारी पार्टी राकांपा -शिवसेना और कांग्रेस को आड़े हाथों लिया है। सोमवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि राज्य के सत्ताधारी पार्टियों को मेरी चुनौती है कि किसी भी चुनाव में सभी चार दल  अलग-अलग लड़कर दिखाएं उसके बाद एहसास होगा कि कौन बोलने के लिए हकदार है। पंढरपुर के उपचुनाव में दिखाई पड़ गया कि तीनों दल मिलकर भाजपा को हरा नहीं सकते। अगर वे अलग-अलग लड़ते हैं, तो भी नहीं जीत पाएंगे। पाटिल ने कहा कि राज्य में महाविकास आघाड़ी की सत्ता आने के बाद भाजपा ने चुनाव में जीत हासिल की है जो हमारे पार्टी के लिए बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने कहा की राज्य सरकार के कार्यों से जनता नाराज है, नतीजन उन्होंने पंढरपुर की चुनाव में यह दिखा दिया है।

क्या अजित पवार देंगे इस्तीफा

पश्चिम बंगाल में भाजपा को मिली हार पर गृहमंत्री अमित शाह का इस्तीफा मांगने वाले राकांपा के प्रवक्ता और मंत्री नवाब मलिक को भाजपा के विधायक आशीष शेलार ने कहा कि बिना पूरी जानकारी लेकर मीडिया से बात करना मलिक का काम है, उन्हें जनता को गलत जानकारी नहीं देनी चाहिए। शेलार ने कहा की पश्चिम बंगाल की चुनाव पर गृहमंत्री का बार -बार इस्तीफा मांगने वाले मलिक से पूछना चाहता हूं कि क्या पंढरपुर के उपचुनाव में राकांपा के उम्मीदवार को मिली हार पर राज्य के उपमुख्यमंत्री अजित पवार मंत्री पद से इस्तीफा देंगे। शेलार ने कहा की इस पर मलिक को स्पस्टीकरण देना चाहिए।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget