नटराजासन योग के फायदे और नियम

natarajasan

कामयाबी को हासिल करने की भागदौड़ में हम अपने शारीरिक स्वास्थ्य के साथ समझौता कर रहे हैं। परिणामस्वरूप, हम कम उम्र में ही कई बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। इन समस्याओं को दूर करने और शरीर को स्वस्थ रखने का एकमात्र सरल उपाय योग है। सही प्रकार से किए गए योग का फायदा तुरंत नजर आने लगता है। इसी प्रकार का एक योग है नटराजासन, जिसे करना न सिर्फ आसान है, बल्कि कई मायनों में यह फायदेमंद भी है।

नटराजासन के फायदे 

अगर नटराजासन को योग्य योग प्रशिक्षक की देखरेख में किया जाए, तो इसके कई फायदे हो सकते हैं, जिनके बारे में हम यहां बता रहे हैं। ध्यान रहे कि अगर कोई गंभीर बीमारी से जूझ रहा है, तो उसे डॉक्टर की सलाह पर ही इसे करना चाहिए।

संतुलन में सुधार

नटराजासन ऐसा आसन है, जिसमें शारीरिक संतुलन की अहम भूमिका होती है। इस आसन को करते समय आपके शरीर का पूरा भार सिर्फ एक पैर पर होता है। इस आसन को प्रतिदिन अभ्यास करने से शरीर के संतुलन में सुधार होता है। इसलिए, नटराजासन योग करने के फायदे में शारीरिक संतुलन को बनाए रखना शामिल है।

वजन को कम करने में मददगार

इस बात से तो लगभग सभी परिचित है कि योग और व्यायाम करने का फायदा वजन को कम करने के लिए हो सकता है। नटराजासन को भी ऐसे योगासनों की लिस्ट में शामिल किया जा सकता है, जो वजन कम करने में मदद कर सकते हैं।

शरीर के लचीलेपन के लिए

शरीर को लचीला बनाने का सबसे अच्छा तरीका योग और व्यायाम होता है। वहीं, शुरुआत में नटराजासन को करने के लिए शरीर में खिंचाव महसूस होता है, लेकिन इसके निरंतर अभ्यास से शरीर में लचीलापन उत्पन्न होने लगता है।

कई योगासन को करने से चयापचय को लाभ पहुंच सकता है। वैसे ही नटराजासन के प्रतिदिन अभ्यास से चयापचय दर में वृद्धि हो सकती है। इसलिए, ऐसा कहा जा सकता है कि नटराजासन चयापचय में सुधार कर सकता है।

तनाव को कम करने के लिए

नटराजासन को करने पर एकाग्रता को बढ़ाने में मदद मिल सकती है। यह आसन आपके मस्तिष्क में रक्त संचार को बनाए रखने का काम करता है जिससे कि मानसिक समस्याओं को दूर रखा जा सकता है। 


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget