रिकॉर्ड तोड़ बारिश, तबाही से सात मरे

पटना

राज्य में चक्रवाती प्रभावों से हुई मूसलाधार बारिश से जनजीवन पर भारी असर पड़ा है। रिकॉर्ड तोड़ बारिश से पटना, गया, पूर्णिया सहित जगह-जगह जलभराव की स्थिति हो गई है। हवा की रफ्तार अधिकतम 37 किमी प्रतिघंटे और चक्रवाती हवा की रफ्तार अधिकतम 44 किमी प्रतिघंटे रहने से जगह-जगह पेड़ उखड़ गए। ग्रामीण इलाकों में मिट्टी से बने कई मकानों के ढहने की सूचना है। जगह-जगह तेज हवाओं के साथ बारिश ने तूफान की तीव्रता से लोगों को डराये रखा। आज भी भारी बारिश के आसार हैं। 

कटिहार के मनिहारी में 251.6 मिमी बारिश

राज्य के पूर्वी भाग में कुछ जगहों पर एक-दो जगहों पर अत्यंत भारी बारिश हुई है। राज्य में सबसे अधिक बारिश कटिहार के मनिहारी में दर्ज की गई। यहां 251.6 मिमी से भी अधिक बारिश हुई है। इसके अलावा कदवा, बरारी, पूर्णिया, परसा, कटिहार उत्तर, अमनौर, बनमनखी, अरवल, शेखपुरा में अत्यधिक यानी भारी से भारी बारिश रिकॉर्ड की गयी।

सूबे के अन्य जगहों पर सामान्य से भारी बारिश हुई। सुबह साढ़े आठ बजे से शाम साढ़े पांच बजे के बीच सूबे में सबसे ज्यादा बारिश वैशाली में 136 मिमी, जबकि पूर्णिया में 83.8 मिमी दर्ज की गई। खगड़िया, पटना, पूर्वी चंपारण, अररिया, बेगूसराय, समस्तीपुर, जमुई, मधुबनी में भी अधिक बारिश रिकॉर्ड की गई। मौसमविदों का कहना है कि यास से सूबे प्रवेश के बाद डीप डिप्रेशन के प्रभाव से इतनी ज्यादा बारिश दर्ज की गई है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget