दोहरी महामारी, जान पर भारी

कोरोना संक्रमण पर लगाम, मौत बेलगाम


नई दिल्‍ली

जानलेवा कोरोना के बीच महामारी बनकर उभरे ब्‍लैक और व्‍हाइट फंगस के डबल मार से लोगों की जान पर आफत बन आई है। सरकार द्वारा इन महामारियों पर लगातार अंकुश लगाने के हो रहे प्रयास के चलते कोरोना पर तो लगाम लगी है, लेकिन इससे होने वाली मौतों को रोकने में आशातीत सफलता नहीं मिल पा रही है। जबकि ब्‍लैक फंगस ने धीरे-धीरे देशभर में अपना पांव पसारना शुरू किया है। इस महामारी को रोकने के लिए सरकार की तरफ से हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं।

देश में कोरोना वायरस की रफ्तार जरूर धीमी हो गई है, लेकिन ऐसे छह राज्य है जहां पर कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा मौतें हो रही हैं। इसमें पहले नंबर पर महाराष्ट्र है जहां मौत का सिलसिला थम नहीं रहा है। इसके साथ-साथ कर्नाटक, तमिलनाडु, यूपी, पंजाब और दिल्ली शामिल है। 

शनिवार को स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि देश के सात राज्य ऐसे हैं जहां पर 10 हजार से अधिक नए मामले सामने आ रहे हैं। वहीं, छह ऐसे राज्य हैं जहां कोरोना वायरस के नए मामलों की संख्या पांच से दस हजार के बीच में है। 

उन्होंने कहा कि 18 राज्य ऐसे हैं जहां पॉजिटिविटी 15 फीसदी से अधिक है, जिनमें लगभग सभी राज्यों में पॉजिटिविटी रेट में लगातार कमी दर्ज़ की जा रही है। 5 से 15 फीसदी पॉजिटिविटी वाले 14 राज्य हैं। 4 राज्यों में 5 प्रतिशत से कम पॉजिटिविटी है।

बता दें कि शनिवार को भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में 2.57 लाख नए मामले आए हैं। इसी के साथ संक्रमण के रोज आने वाले मामले लगातार छठे दिन तीन लाख से नीचे रहे। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को बताया कि संक्रमण के नए मामलों के साथ ही देश में कोविड-19 के कुल मामले बढ़कर 26289290 हो गए हैं। 

ब्‍लैक फंगस की फांस

कोरोना वायरस के कहर के बीच म्यूकरमाइकोसिस यानी ब्लैक फंगस के तेजी से बढ़ते मामलों ने लोगों को डरा दिया है। हालांकि, ब्लैक फंगस के खतरे से निपटने के लिए सरकार तेजी से काम कर रही है। देश में अब तक ब्लैक फंगस के करीब नौ हजार मामले सामने आ चुके हैं और ज्यादातर राज्यों ने इसे महामारी घोषित कर दिया है। इस बीच केंद्र सरकार ने राज्यों की इस बीमारी से लड़ने में मदद के लिए ब्लैक फंगस की दवा एम्फोटेरिसिन-बी की कुल 23680 अतिरिक्त वायल आवंटित किए हैं। 

भारत में अब तक 8848 ब्लैक फंगस के मरीज मिल चुके हैं, जिनमें सबसे अधिक ब्लैक फंगस के केस गुजरात में ही सामने आए हैं। गुजरात में अब तक 2281 लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। वहीं, महाराष्ट्र में भी इससे प्रभावितों का आंकड़ा 2000 पार कर गया है। इसके अलावा, आंध्र प्रदेश, में 910, मध्य प्रदेश में 720, राजस्थान में 700 और तेलंगाना में 350 ब्लैक फंगस के केस मिले हैं। 

अब तक 11 राज्यों में ब्लैक फंगस महामारी घोषित

उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश, ओडिशा, कर्नाटक, तेलांगना, उत्तराखंड, बिहार और तमिलनाडु ब्लैक संक्रमण को महामारी घोषित कर चुके हैं। 

दांत से आंत तक फंगस

दिल्‍ली के सर गंगा राम अस्‍पताल में ब्‍लैक फंगस का दुर्लभ मामला मिला है। अब यह छोटी आंत में देखने में आया है। यह दो मरीजों में पाया गया है। एक की उम्र 56 साल और दूसरे की 68 साल है। डायबिटीज के ये दोनों मरीज कोरोना से संक्रमित रह चुके हैं। यह अलग बात है कि इनमें से सिर्फ एक पहले स्‍टेरॉयड लेता आया है। बायोप्सी से इन मरीजों की छोटी आंत (स्‍मॉल इंटेस्‍टाइन) में ब्लैक फंगस की पुष्टि हुई। अब ब्‍लैक फंगस दांत से आंत तक पहंुच रहा है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget