दिसंबर तक भारत को मिल जाएगा आसमानी कवच


नई दिल्ली

भारत को दिसंबर तक आसमानी कवच मिलने वाला है। भारत को सतह से हवा में मार करने वाली अत्याधुनिक एस-400 मिसाइल प्रणाली की पहली खेप रूस से इस साल दिसंबर तक मिल जाएगी। रोसोबोरोनएक्पोर्ट के सीईओ अलेक्जेंडर मिखेयेव ने कहा कि हर चीज तय समय के अनुसार चल रही है। एस-400 सतह से हवा में मार करने वाली लंबी दूरी की रूस की सबसे उन्नत मिसाइल रक्षा प्रणाली है। ट्रायम्फ मिसाइल प्रणाली 400 किलोमीटर की दूरी से शत्रु विमानों, मिसाइलों और यहां तक कि ड्रोन को भी नष्ट कर सकती है। एजेंसी ने बताया कि भारतीय विशेषज्ञ रूस पहुंच गए हैं और उन्होंने जनवरी 2021 में एस-400 संबंधी प्रशिक्षण लेना शुरू कर दिया है।

अमेरिका ने किया था विरोध 

अमेरिका ने भारत और रूस की एस-400 ट्रायम्फ एंटी मिसाइल सिस्टम डील का विरोध किया था। एस-400 को अमेरिका की थाड एंटी मिसाइल सिस्टम की टक्कर का माना जाता है। जानकार यह भी मान रहे हैं कि एस-400 सिस्टम अमेरिका की संवेदनशील सैन्य प्रौद्योगिकी में सेंध लगा सकता है।

अन्य खास बातें

- 400 किलोमीटर की रफ्तार से आने वाली ड्रोन-मिसाइल का खात्मा करने में सक्षम

- 5 अरब डॉलर में 5 यूनिट के लिए साल 2018 में हुआ था सौदा

- 36 मिसाइल को एक साथ मार सकता है

- 30 किलोमीटर की ऊंचाई तक निशाना लगाने में सक्षम


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget