मुंबई में थमी कोरोना की रफ्तार

45 दिन में पहली बार सिंगल डिजिट में पहुंचा पॉजिटिविटी रेट

corona test

मुंबई

कोरोना की दूसरी लहर से पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है। मुंबई के लिए अच्छी खबर है कि यहां पर मरीजों की संख्या में पिछले बीस दिनों से रोजाना गिरावट हो रही है। मुंबई में कुल होने वाली जांच और उसमें मरीजों

के कुल पॉजिटिव होने के मामलों में भी गिरावट हो रही है। मनपा आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने जानकारी दी कि एक अप्रैल को मरीजो का पॉजिटिवटी रेट 20 प्रतिशत से अधिक था, अब माह के अंत में घट कर 10 प्रतिशत से भी कम सिंगल डिजिट में आ गया है। मनपा आयुक्त ने इसके लिए प्रतिबंध और मुंबई के लोगों द्वारा नियमों का पालन किया जाना बताया है।

मनपा आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने कहा कज चार अप्रैल को मुंबई में कुल जांच में मरीजों की संख्या 27 ,94 प्रतिशत पाई जा रही थी। राज्य सरकार ने पांच अप्रैल को ब्रेक द चेन के तहत कठोर नियम लगाने शुरू किए  उसके बाद 22 अप्रैल को पूरी तरह कर्फ्यू लगा दिया गया, जिसका फायदा यह हुआ कि रोजाना लगभग 44 हजार की जांच में जहां 27 प्रतिशत से अधीक मरीज मिल रहे थे अब घटकर यह संख्या 9,94 प्रतिशत आ गई है।  

इमारतों पर लगा प्रतिबंध हटने लगा

कोरोना मरीजो की संख्या बढ़ने पर मनपा प्रशासन ने जिस मंजिल पर मरीज मिला उसे सील करने और किसी इमारत में पांच से अधिक मरीज मिला तो इमारत सील की जाने लगी थी। पिछले आठ दिनों में सील  हुए 271 मंजिले खोल दिये  गए, जबकि पांच से अधिक मरीज मिलने पर सील हुई 97 इमारतों को खोल दिया गया। पॉजीटिविटी रेट किस तरह निकाला जाता है कुल जांच किये मरीजों में सकर्मित मिले मरीजो की संख्या के आधार पर निकाला जाता है। 4 अप्रैल को मुंबई में की गई  100 जांच में से 27 से अधीक मरीज मिल रहे थे, जबकि 29 अप्रैल को यह संख्या घटकर 100 जांच में मात्र 9 मरीज मिल रहे हैं। 29 अप्रैल को मुंबई में 115 चालियां और झोपड़ पट्टियां एवं एक हजार 101 इमारत कंटेन्मेंट जोन में है, जबकि 10 हजार 686 मंजिल सील हैं।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget