अपनों की मौत के सदमे में परिजन गंवाने लगे जान

बिहारशरीफ 

कोरोना का कहर अब संक्रमित लोगों के परिजनों पर भी बरपने लगा है। परिजनों की मौत से पहले ही लोग सदमे में जी रहे हैं। अब तो सदमे में मृतकों के अन्य नजदीकी रिश्तेदार भी जान गंवाने लगे हैं। इससे लोगों के घर उजड़ने लगे हैं।बिहारशरीफ के बिंद के कथराही गांव में बैंककर्मी बेटे के बाद उनके पिता तो हरनौत में शिक्षक भाई के बाद बहन की कोरोना से मौत हो गयी। इनके अन्य परिजनों की भी हालत गंभीर बनी हुई है। इससे इन गांवों में मातमी सन्नाटा छाया हुआ है। 

कथराही में तो बेटे की मौत की खबर सुनते ही माता-पिता की तबीयत खराब हो गयी थी। इससे पिता की शुक्रवार को मौत हो गयी। जबकि, माता गंभीर रूप से बीमार हैं। बिन्द के कथराही गांव में कोरोना के कहर से एक परिवार का घर उजड़ गया। दो दिनों के अंतराल में एक ही परिवार के दो लोगों की मौत हो गई। 

दो दिन पहले बेटे की मौत हुई थी। शुक्रवार को पिता की मौत हो गयी। जबकि इस परिवार के एक महिला सदस्य की हालत गंभीर है। परिजनों के क्रंदन से घर में कोहराम मचा है। गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया है। लोगों की आंखें नम हैं। परिजन आशीष कुमार ने बताया कि मृतक सुरेन्द्र प्रसाद यादव का परिवार काफी खुशहाल था। मृतक के तीन पुत्र हैं। बड़े बेटे जितेन्द्र कुमार पटना में कोचिंग चलाते हैं। दूसरे बेटे धर्मेन्द्र कुमार केनरा बैंक बिहारशरीफ में कार्यरत हैं। जबकि सबसे छोटे पुत्र दक्षिण मध्य बिहार ग्रामीण बैंक बिहारशरीफ में कार्यरत थे। पत्नी संगीता देवी कथराही पोस्ट ऑफिस में पोस्टमास्टर के पद पर कार्यरत हैं। दो सप्ताह पहले बिहारशरीफ केनरा बैंक में पदस्थापित धर्मेन्द्र कुमार कोरोना पॉजिटिव हो गए।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget